Search

नोटबंदी में खरीदी महंगी गाडिय़ां, आयकर के निशाने पर

भोपाल। भोपाल के कार डीलर ‘माय कारÓ के सभी 18 ठिकानों पर आयकर छापे की कार्रवाई दूसरे दिन भी जारी रही। तीन राज्यों में चल रही छानबीन में विभाग को ऐसे लोगों की सूची मिली है, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान नकद राशि देकर महंगी गाडिय़ां खरीदीं। इन सभी लोगों को आयकर विभाग नोटिस देकर पूछताछ करेगा। Óमाय कार समूह के राजधानी में मारुति कार के चार बड़े शोरूम हैं। समूह का कामकाज मप्र के अलावा छत्तीसगढ़ और उत्तरप्रदेश तक फैला है। पिछले साल नोटबंदी के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने पुरानी करेंसी खपाने के उद्देश्य से नकदी देकर समूह के शोरूम से महंगी गाडिय़ां खरीदी थीं। छापे में आयकर अफसरों को ऐसे लोगों का ब्योरा मिला है। विभाग का कहना है कि संदिग्ध खरीददारों को नोटिस देकर पूछताछ की जाएगी। इसके अलावा उन सभी के आयकर रिटर्न में यह जांच भी की जाएगी कि उन्होंने गाडिय़ों की नकद खरीद-फरोख्त का ब्योरा विभाग को दिया अथवा नहीं। नोटबंदी और ऑपरेशन क्लीनमनी के तहत विभाग ने ऐसे लोगों को निशाने पर लिया है, जिन्होंने अपनी काली कमाई छिपाने के लिए इस तरह के हथकंडों का सहारा लिया। विभाग का कहना है कि नोटबंदी के बाद आयकर विभाग की ओर से अघोषित आय उजागर करने के लिए दो योजनाएं निकाली गईं। इसके बावजूद जिन्होंने अपना कालाधन घोषित नहीं किया उन्हें निशाने पर रखा गया है।