BREAKING NEWS
Search

पीएनबी घोटाले में वित्त मंत्री ने तोड़ी चुप्पी

नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले में वित्त मंत्री ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने बैंकों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा है कि जब मैनेजमेंट को काम करने की छूट दी जाती है तो उम्मीद की जाती है कि वो इसका सही और असरदार तरीके से इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने रेगुलेटर की भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए कहा है कि इस चूक के लिए अपने गिरेबान पर झांकना चाहिए। ऑडिटर को भी खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि जब घोटाला हो रहा था तो वो क्या कर रहे थे।
वित्त मंत्री ने कहा कि बैंकों के साथ घोटाला करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। कुछ भारतीय कारोबारी नियम-कानून के परे काम कर रहे हैं। ये सरकार की जिम्मेदारी है कि बेईमान कारोबारियों को पकड़े। बैंकिंग सिस्टम विश्वास पर काम करता है। बैंकों के मैनेजमेंट अपनी जिम्मेदारी में फेल हुए हैं। ऑडिटरों ने भी अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाई। रेगुलेटर को ध्यान रखना होगा कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों।