पीएम आवास के पैसे से किसी ने शराब पी तो किसी ने उधारी चुकाई

श्योपुर। श्योपुर जनपद की नगदी ग्राम पंचायत के हांसापुर गांव निवासी विनोद पुत्र भगोली आदिवासी को पीएम आवास के लिए दो किश्तों के 80 हजार रुपए मिले। इन 80 हजार से दासा लेवल तक आवास का निर्माण कराया, जिसमें 35-40 हजार रुपए खर्च हुए। दूसरी किश्त के 40 हजार रुपए मिले उनसे विनोद आदिवासी ने आवास का कोई काम नहीं कराया और 40 हजार रुपए को शराब पीने में खर्च कर दिया। अब उसके आवास का काम अधूरा पड़ा है। ऐसा केवल विनोद ही नहीं है। जिले में 65 से ज्यादा ऐसे हितग्राही हैं जो पीएम आवास की राशि से या तो शराब पी गए या किसी ने ट्रैक्टर खरीद लिया तो किसी ने उधारी चुका दी। कई ऐसे भी हितग्राही हैं जो आवास की राशि मिलने के बाद गांव से ही गायब हो गए। ऐसे हितग्राहियों ने उन अधिकारी-कर्मचारियों की फजीहत कर दी है, जिन्हें सरकार ने हर हाल में आवास का काम समय पर पूर्ण कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। जिले में पीएम आवास योजना के पहले चरण के तहत 10 हजार 60 हितग्राहियों को आवास दिए जा रहे हैं।