BREAKING NEWS
Search

पुलिस पर दबाव बना कर करवाई कार्रवाई

– पहले कैमरे में कैद किया, फिर पुलिस को बुलाया
हनुमानगढ़। पर्ची सट्टा किंग के ठिकाने पर कार्रवाई करवाना आसान नहीं था, लेकिन कुछ लोगों ने पहले पर्ची सट्टे के बड़े कारोबार को कैमरे में कैद किया और फिर उच्चाधिकारियों पर दबाव बना कर पुलिस से कार्रवाई करवा दी।
सूत्रों ने बताया कि कुछ लोग सट्टा किंग के कारोबार में हिस्सेदारी चाहते थे। यह लोग पहले सट्टा किंग के लग्जरी ऑफिस में पहुंचे और पर्ची सट््टे को लैपटॉप में फीड करते हुए तीन दर्जन से अधिक कर्मचारियों को कैमरे में कैद कर लिया। कैमरा ऑन करके कानिन्दों से उनके आका का नाम भी पूछा जा रहा था,लेकिन किसी भी कर्मचारी ने अपनी जुबान नहीं खोली। सोशल मीडिया पर पर्ची सट्टा करते हुए दर्जनों कर्मचारियों का वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें लैपटॉप की संख्या भी काफी दिखाई दे रही है, लेकिन पुलिस ने केवल पांच ही लैपटॉप बरामद किए हैं।
पर्ची सट्टे व क्रिकेट सट्टे के अवैध कारोबार के लिए हनुमानगढ़ की धरती काफी सुरक्षित मानी जाती है। यहां पुलिस को मैनेज करने के बाद सट्टे का कारोबार बेखौफ किया जाता है, लेकिन बीती रात सट्टा किंग पर कार्रवाई को आश्चर्य के रूप में देखा जा रहा है। पुलिस किसी भी सूरत में यहां कार्रवाई नहीं करती, लेकिन लोगों ने वीडियो का बनाकर पुलिस पर भारी दबाव बनाया और पुलिस को न चाहते हुए सट्टा किंग के ठिकाने पर छापा मारना पड़ा।
सट्टा किंग के ठिकाने पर पुलिस का छापा
– 25 कारिन्दे गिरफ्तार, 5 लैपटॉप बरामद
हनुमानगढ़। जंक्शन पुलिस ने पहली बार पर्ची सट्टा किंग के ठिकाने पर दबिश देकर 25 युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये युवक सट्टा किंग के कर्मचारी हैं और पर्ची सट्टे का हिसाब किताब लैपटॉप पर ऑनलाइन कर रहे थे। यह कार्रवाई बीती रात करीब साढ़े 11 बजे की है।
थाना प्रभारी राजेश सिहाग के नेतृत्व में पुलिस टीम ने जंक्शन में आईडीबीआई बैंक के पीछे स्थित ढिल्लों कॉलोनी में आलीशान ऑफिस में दबिश देकर पर्ची सट्टे करते हुए अंकित, प्रिंस, केशव, मनीष कुमार, राजेन्द्र कुमार, योगराज, राधेश्याम, संगम, सुनील कुमार, विकास, नरेन्द्र सिंह, प्रवेश कुमार, तरूण कुमार, सुनील अरोड़ा, करणी सिंह, रूपराम, सोनू, नितिन, शुभम, पंकज, आशीष कुमार, विकास कुमार, निन्जा सोनी, नरेश कुमार निवासी हनुमानगढ़ को गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जा से पांच लैपटॉप बरामद हुए हैं। लाखों रुपए का सट्टे का हिसाब किताब मिला है। पुलिस ने सट्टा किंग के कर्मचारियों को देर रात जमानत पर रिहा कर दिया।
देर रात फिर शुरू हो गया था धंधा
हनुमानगढ़। आईडीबीआई के पीछे पर्ची सट्टे के बड़े कारोबार का भण्डाफोड़ होने के बावजूद बीती रात फिर से सट्टे का धंधा उसी तर्ज पर शुरू हो गया था। लाखों रुपए की मंथली देने वाले सट्टा किंग ने अपने रसूख का इस्तेमाल करते हुए पुलिस थाना से अधिकांश लैपटॉप व मोबाइल फोन वापिस ले लिए थे।
सूत्रों के अनुसार कई जिलों में लगने वाले पर्ची सट्टे का सौदा इसी ठिकाने पर बोला जाता है। ऐसे में सुबह सट्टे का नम्बर खुलने पर लगाईवालों को रुपयों का भुगतान करने के लिए सट्टा किंग ने अपना कारोबार रात को ही फिर से शुरू कर लिया था। पुलिस ने जिन कर्मचारियों को पकड़ा, उन्हीं कर्मचारियों ने रात को दुबारा अपना काम शुरू कर लिय था। यहां प्रतिदिन करोड़ों रुपए का सट्टा लिखा जाता है।