फुल टॉक टाइम प्रीपेड ऑफर पर नहीं होगा जीएसटी का असर

कोलकाता। टेलिकॉम कंपनियां आगामी 1 जुलाई से फुल टॉक टाइम प्रीपेड और चुनिंदा डेटा ऑफरों पर जीएसटी के तहत टैक्स रेट में अतिरिक्त 3 फीसदी की बढ़ोतरी का बोझ खुद ही वहन करेंगी। इसका मतलब यह है कि जीएसटी की बढ़ी हुई दरों का बोझ कंपनियां ऐसे कस्टमर्स पर नहीं डालेंगी। रिलायंस जियो इंफोकॉम की एंट्री के बाद इन कंपनियों को पहले ही जबरदस्त कॉम्पिटिशन का सामना करना पड़ रहा है। फुल टॉक टाइम का प्रीपेड ऑफर आमतौर पर 100 से 1,000 रुपये के बीच होता है और फिलहाल इस पर लगने वाला सर्विस टैक्स पूरी तरह से टेलिकॉम कंपनियां वहन करती हैं। डेटा सैशे प्रीपेड प्रॉडक्ट्स 15 से 150 रुपये के बीच होते हैं और इसके तहत 20एमबी से लेकर 1जीबी तक का ऑफर होता है।