फ्री एप्स से आपका आइफोन और एंड्रायड हो सकता है बर्बाद

 

हम सभी को फ्री एप्स से बहुत प्यार है लेकिन कभी सोचा है कि इस प्यार की कितनी भारी कीमत आपको चुकानी पड़ सकती है। यहां हम वो तीन तरीके बता रहे है जिनका प्रयोग से फ्री एप्स आपके आइफोन और एंड्रायड को बर्बाद कर सकते है। अगर आपको अपने फोन की बैटरी लाइफ छोटी लगने लगी है, स्टोरेज के लिए स्पेस नहीं बचा है, फोन स्लो काम करने लगा है जैसी परेशानियों का सामना कर रहे है तो ये सब फ्री एप्स के कारण ही हो रहा है। चलिए आज आपको बताते है कैसे फ्री एप्स आपके मोबाइल की परफॉर्मेंस खराब कर देते है फिर चाहे वो
फ्री एप्स आइफोन और एंड्रायड की बैटरी लाइफ को घटिया बना देते है: घटिया बैटरी लाइफ एक सबसे बड़ी शिकायत है जो आइफोन और एंड्रायड यूजर्स झेलते है। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि उन्होंने कौनसा मॉडल खरीदा है या फोन कितना नया है। एक स्टडी बताती है कि पेड एप्स के मुकाबले 16 प्रतिशत से भी ज्यादा एनर्जी फ्री एप्स यूज करते है, क्योंकि विज्ञापनों को डाउनलोड करने और उन तक पहुंचने के लिए ये आपके सेलुलर सिग्नल का प्रयोग करते है। रिसर्च ने पाया कि ये फ्री एप्स बिना विज्ञापनों के भी पेड एप्स के मुकाबले 33 प्रतिशत से ज्यादा बैटरी लाइफ का प्रयोग करते है और यही बात पूरी बैटरी लाइफ को प्रभावित करती है।
फ्री एप्स ज्यादा स्टोरेज घेरते है और आपको उसकी कीमत चुकानी पड़ती है: जब आप अपने आइफोन या एंड्रायड पर फ्र ी एप डाउनलोड करते हैं, तो पेड एप के मुकाबले ये फ्री एप्स आपके फोन का ज्यादा स्पेस लेते हैं और विज्ञापन ज्यादा डाटा यूज करते है। अगर आपने पहले से ही अपने फोन की स्टोरेज लिमिट सेट कर रखी है और आपको फ्री एप्स पसंद है, तो हो सकता है कि आप एक फोटो भी न ले सकें, क्योंकि आपका फोन फ्री एप्स और विज्ञापनों से भर गया है।
फ्री एप्स आपके फोन को स्लो करते हैं: फ्री एप्स ज्यादा प्रोसेसर पावर का प्रयोग करते है और आपके फोन को स्लो कर देते हैं। 7 महीने पुराना होने पर भी यदि आपका फोन पुराना और स्लो हो गया है तो इसकी धीमी गति का कारण फ्री एप्स हो सकते हैं और इसके कारण आपको जल्दी ही अपग्रेड करवाने का खर्चा भी उठाना पड़ सकता है
एक फोन का सीपीयू उसके दिमाग के जैसा होता है और विज्ञापन उस दिमाग की ऊर्जा को ज्यादा से ज्यादा खाकर उसे स्लो कर देते है। फ्री एप्स विज्ञापनों के साथ सीपीयू का 48 प्रतिशत ज्यादा समय खा लेते है। 22 प्रतिशत ज्यादा मैमोरी यूज करते है और 56 प्रतिशत से भी ज्यादा सीपीयू का उपयोग करते है। कुल मिलाकर कहा जाए तो आपका फोन पूरी तरह खत्म हो सकता है, जब वह स्लो महसूस होने लगे, क्योंकि ये अब पुराना पड़ चुका है या कह सकते है कि आप इसकी क्षमता से ज्यादा इसपर दबाव डाल रहे है, क्योकि आपके फोन में बहुत सारे फ्री एप्स है।