बाकि फिल्मों से अलग हैं ‘राजी,

डायरेक्टर मेघना गुलजार ने देशभक्ति, रिश्तों की डोर व इमोशंस को बड़ी ही खूबसूरती से इस फिल्म में पिरोया है। फिल्म का निर्माण करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन और जंगली पिक्चर्स द्वारा किया गया है जो इसी शुक्रवार 11 मई को रिलीज होगी। हाल ही में अपनी फिल्म प्रमोशन के सिलसिले में दिल्ली पहुंचीं आलिया भट्ट और विक्की कौशलडायरेक्टर मेघना गुलजार ने देशभक्ति, रिश्तों की डोर व इमोशंस को बड़ी ही खूबसूरती से इस फिल्म में पिरोया है। फिल्म का निर्माण करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन और जंगली पिक्चर्स द्वारा किया गया है जो इसी शुक्रवार 11 मई को रिलीज होगी। हाल ही में अपनी फिल्म प्रमोशन के सिलसिले में दिल्ली पहुंचीं आलिया भट्ट और विक्की कौशल आलिया बताती हैं कि- मैं फिल्म में कश्मीरी लड़की सहमत के किरदार में हूं, जो 20 साल की है। उसके लिए वतन के मायने सबसे ऊपर हैं और इसी वतन की रक्षा के लिए वह अपनी जिंदगी दांव पर लगाकर जासूस बनने को तैयार हो जाती है, क्योंकि उसके खून में वतन के लिए लडऩा है। सहमत का किरदार सिर्फ एक बेटी के जासूस बनने तक का सफर ही नहीं, बल्कि एक पत्नी बनकर इस सफर पर आगे बढऩे की भी कहानी है, जो आपके दिल को छू जाएगी। ये बाकि फिल्मों से एकदम अलग है, क्योंकि यह एक रियल कहानी है। मैं फिल्म में एक किरदार निभा रही हूं सहमत का और सहमत भी फिल्म के अंदर एक किरदार ही निभा रही है, क्योंकि वह एक पत्नी तो है, लेकिन जासूस भी है, जो अपने ससुराल में एक्टिंग ही कर रही है। इस तरह मैं दोहरी एक्टिंग कर रही थी। मां के साथ मेरा बहुत इमोशनल रिश्ता है। फिल्म में भी वह मेरी मां का किरदार अदा कर रही हैं। ऐसे में इमोशनल सीन के दौरान हम दोनों रियल में रो देते थे। पीरियड फिल्म बनाने में काफी रिसर्च करनी पड़ती है। हमारे पास उस समय का कुछ भी विजुअल रेफरेंस नहीं था लेकिन मैं खुद पंजाब से हूं और मेरा ससुराल भी पंजाब में है। ये तो हमें पता ही था कि एक समय में पंजाब और पाकिस्तान एक था, हमने आर्मी बैकग्राउंड के कुछ लोगों से भी बातचीत करके ये चीजें क्रिएट कीं। मैंने बचपन में कुछ समय कश्मीर में बिताया था। अब इतना अरसा बीत गया और काफी कुछ हो चुका है लेकिन आज भी कश्मीर वैसा का वैसा ही है। वहां के लोग वैसे ही हैं। कश्मीर में शूटिंग करने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि वहां पर जाकर कहीं भी कैमरा लगाकर शूटिंग शुरू कर लो, क्योंकि वह खूबसूरत लगना ही है। हम शूटिंग खत्म कर हर रोज शिकारा राइड्स पर भी जाया करते थे। एक अच्छी कहानी मिले तो बहुत खुशी होती है और जब साथी कलाकार भी अच्छे मिल जाएं तो ये खुशी दोगुनी हो जाती है। फिल्म में मेरा आर्मी ऑफिसर इकबाल का किरदार है, जिसे निभाने में बहुत मजा आया। मेघना मैम का तो मैं बहुत बड़ा फैन हूं, तो मुझे लगा कि यह फिल्म कैसे भी मुझे करनी है। मुझे इस फिल्म और कहानी पर पूरा भरोसा था।