बाजार में सीजन की तैयारियां, मंदे से उबरने की उम्मीद

– आठ दिन बाद नवरात्रा स्थापना से आरंभ होगा त्योहारी सीजन
श्रीगंगानगर। लंबे समय से मंदे को झेल रहे व्यापारी और दुकानदारों की निगाहें अब 21 सितंबर को शुरू हो रहे नवरात्रों पर लगी हैं। हालांकि नोटबंदी, जीएसटी का असर अभी बरकरार है, फिर भी नवरात्रा स्थापना से शुरू होने वाले दीपावली महापर्व के सीजन की तैयारियां बाजार में शुरू हो गई हैं। व्यापारी मानकर चल रहे हैं कि सूने पड़े बाजार में नवरात्रों से कुछ रौनक आएगी। लिहाजा, नवरात्रों के दौरान कारोबार चमकाने के लिए तैयारियां चल रही हैं।
कुछ व्यापारी नवरात्रों में मंदे पर बहुत ज्यादा फर्क पडऩे की उम्मीद नहीं रखते लेकिन ज्यादातर व्यापारी और दुकानदार पुरानी परपंरा के हिसाब से नवरात्रों सेे उम्मीद लगाए हुए हैं। कांग्रेस जिला उद्योग एव व्यापार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अशोक भूतना का कहना है कि लंबे अरसे बाजार मंदे का शिकार है। अभी श्राद्ध पक्ष के कारण और भी मंदा चल रहा है। बीस तारीख को श्राद्ध समाप्त होंगे और अगले दिन से नवरात्रा पर्व शुरू होगा। स्वाभाविक रूप से बाजार में रौनक आनी शुरू होगी। भूतना का कहना है कि श्राद्ध पक्ष के दौरान भयंकर मंदा रहता है। हमेशा उम्मीद करते हैं नवरात्रों से काम धंधे की हलचल शुरू होगी। इस बार भी उम्मीद है। जिन लोगों ने श्राद्ध पक्ष के कारण जरूरी खरीदारी रोक रखी है, वे लोग बाजार में निकलेंगे। साथ ही, विवाह-शादियों की खरीदारी भी होगी। इसके आगे धनतेरस और दीपावली आ रही है।
बाजार में विभिन्न वस्तुओं के विक्रेता दुकानदार त्योहारी सीजन का स्वागत करने के लिए तैयार हो रहे हैं। हालांकि बाजार में पैसा बहुत कम माना जा रहा है, फिर भी त्योहारी सीजन के लिए माल मंगवाया जा रहा है। इलेक्ट्रोनिक उपकरण डीलर, मोबाइल फोन डीलर, बर्तन व्यवसायी, स्वर्णकार, वाहन डीलर अभी से जुट रहे हैं।
गिफ्ट आइटम, पटाखे, ड्राई फूट, सजावटी सामान आदि की खूब बिक्री दीपावली पर्व पर होने के कारण इनसे संबंधित व्यापारी तैयारी कर रहे हैं। त्योहारी सीजन के लिए माल मंगवाने की कवायद शुरू की जा रही है। उधर, संयुक्त व्यापार मंडल के अध्यक्ष तरसेम गुप्ता की मानें तो अभी भी बाजार मेंं मंदे के हालात हैं। नोटबंदी, जीएसटी से बाजार अभी भी पूरी तरह उबरा नहीं है। गर्मी ज्यादा पड़ रही है। फसलें आना शुरू नहीं हुई हैं। ऐसे मेंं नवरात्रों के दौरान ज्यादा उम्मीद नहीं कर सकते। त्योहारी सीजन की रंगत दीपावली से एक सप्ताह पहले ही नजर आ पाएगी।