बाथरूम के दरवाजे के सामने न लगाएं आईना

फेंगशुई विशेषज्ञों के मुताबिक घर में गलत दिशा में बाथरूम होने पर बनते काम बिगड़ते हैं और तरक्की के रास्ते में रुकावटें आती हैं। इनकी राय में घर के केंद्र में बाथरूम स्थापित नहीं किया जाना चाहिए। वहीं ईशान कोण (उत्तर-पूर्व कोना) पर बाथरूम बना दिया जाए, तो बच्चों की पढ़ाई पर प्रभाव पड़ता है। साथ ही, घर में रहने वाले जातक को मानसिक अशांति रहती है।
इसलिए फेंगशुई के तहत ईशान कोण पर बाथरूम बनाना पूरी तरह से वर्जित माना गया है। घर के बाथरूम के लिए उत्तम दिशाएं दक्षिण, पश्चिम और पूर्व मानी गई हैं। यदि आपके बाथरूम में भी किसी तरह का फेंगशुई दोष है, तो परेशान होने की जरूरत नहीं, क्योंकि फेंगशुई में इसके उपाय मौजूद हैं। बाथरूम को फेंगशुई दोष से मुक्त रखने के लिए कुछ छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखना जरूरी होगा, जैसे-
– नहाने जाते वक्त हमारे साथ-साथ कुछ नकारात्मक ऊर्जाएं भी बाथरूम में प्रवेश कर जाती हैं। ऐसे में दरवाजे के ठीक सामने दर्पण लगा हुआ हो, तो यह ऊर्जा परावर्तित होकर पुन: घर में लौट आती हैं।
– हर 7-10 दिनों के अंदर घर का बाथरूम साफ करें।
– फेंगशुई के मुताबिक बाथरूम में नीले रंग की बाल्टी रखना शुभ होता है। वैसे किसी और रंग की बाल्टियां पहले से घर में मौजूद हैं, तो भी कोई बात नहीं, आप इन्हें भी उपयोग में ला सकते हैं। बाथरूम में रखी बाल्टी हमेशा पानी से भरी रहे, इस बात का ख्याल रखें। यह उपाय आपके जीवन में खुशियों के स्थायित्व को बनाए रखने में मददगार होगा।
– बाथरूम में इस्तेमाल की जाने वाली चीजें जैसे- साबुन, शैंपू, स्क्रब आदि खुशबूदार और तौलिया, साबुन, ब्रश होल्डर खुशनुमा रंग के चुनें।
– उत्तर या पश्चिम दिशा में कमोड लगाना सेहत के लिहाज से ठीक माना जाता है। कमोड का ढक्कन हमेशा बंद रखें। यह कीटाणुओं और नकारात्मक ऊर्जा को फैलने से रोकने में मदद करेगा।