बाल विवाह का विरोध किया, तो मां की हत्या

हनुमानगढ़। बेटी के बाल विवाह का विरोध किया, तो ससुराल वालों ने मां को ही मार दिया। आरोप है कि महिला की हत्या करके शव को डिग्गी में डाल दिया। पल्लू पुलिस ने अब हत्या का मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।
जरिए इस्तगासा दर्ज मुकदमे में जसवंत पुत्र सुल्तान जाट निवासी हमीरदेसर रावतसर ने बताया कि उसकी दो भतीजी सरोज व कृष्णा की शादी ढाणी लेघान में रामकरण के पुत्रों के साथ हुई थी। यह शादी वर्ष 1999 में हुई। सरोज की नौ वर्षीय पुत्री की शादी उसके परिवारवालों ने कर दी। अब तीन वर्ष बाद सरोज की पुत्री को ८ शेष ञ्च 5 पर
ससुराल वाले लेकर जाना चाहते थे। सरोज इसका विरोध करती थी। इसी बात से नाराज होकर मदनलाल पुत्र धर्माराम जाट, शारदा पत्नी रामकरण, प्रकाश पुत्र बहादरराम, बहादरराम पुत्र रामकरण, विनोद पुत्र रामकरण ने सरोज की हत्या करके लाश को गांव में बनी डिग्गी में डाल दिया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।