बिजनस बढ़ाने के लिए कस्बों की ओर एमेजॉन की दौड़

बेंगलुरु। एमेजॉन की बिजनस की योजना आने वाले साल में नए शहरों में विस्तार करने की है ताकि बिजनस-टू-बिजनस रिटेल में वह ज्यादा बड़ा हिस्सा हासिल कर सके। एक साल पहले बेंगलुरु में 8-पिनकोड पायलट शुरू करने के बाद एमेजॉन बिजनस इंडिया में लगातार काम में जुटी हुई है, जबकि अमेरिका में यह पिछले साल 1 अरब डॉलर की सालाना सेल्स का आंकड़ा हासिल कर चुकी है। हालांकि, कंपनी इंडिया के टैक्स स्ट्रक्चर के हिसाब से संभलकर कदम रख रही है। एमेजॉन बिजनेस के जनरल मैनेजर कवीश चावला ने कहा, ‘बिजनस-टू-कंज्यूमर बिजनस में मौजूदगी देश के एक हिस्से में होती है, जबकि बाकी हिस्सों में वहीं से सेवाएं देनी होती है। बिजनस-टू-बिजनस ट्रांजैक्शंस में यह राज्य आधारित बिजनस होता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में टैक्स भी अलग-अलग होता है और हमें अपने कारोबार वाले हर राज्य में एक फुलफिल सेंटर खोलना पड़ता है।