बिना सिग्नल के भी स्मार्टफोन ऐप बताएगा लोकेशन

वैज्ञानिकों ने एक नया स्मार्टफोन ऐप विकसित किया है। यह भूकंप, बाढ़ या जंगलों में आग जैसी आपात स्थितियों में उपयोगी हो सकता है। ऐसे हालात में प्राय: संचार सेवा ध्वस्त हो जाती है। इससे मोबाइल फोन भी काम करना बंद कर देता है। नया ऐप फोन में सिग्नल नहीं रहने पर भी मुसीबत में फंसे लोगों के ठिकाने के बारे में बता सकता है। इस ऐप को स्पेन की डी एलिकैंट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने विकसित किया है।
इससे दूरदराज के उन इलाकों में हादसे का शिकार हुए लोगों का पता लगाना संभव हो सकेगा जहां फोन का सिग्नल नहीं होता है। इस तकनीक के निर्माता प्रो. जोस एंगल बर्ना ने कहा, हमने एक एप्लीकेशन (एप) तैयार किया है जिसे किसी भी स्मार्टफोन में उपयोग में लाया जा सकता है। यह बिना सिग्नल के भी वाईफाई सिग्नल प्रवाहित करता है जो कई किमी की दूरी से संकट के संकेत के तौर पर काम करता है। उन्होंने बताया कि इस संकेत में किसी हादसे के पीडि़त या लापता व्यक्ति के स्थान की जानकारी समाहित होती है जो स्मार्टफोन का उपयोग कर रहा होता है।
पोर्टेबल डिवाइस भी बनाया
शोधकर्ताओं ने संकट के संकेत का पता लगाने के लिए एक पोर्टेबल रिसेप्टर डिवाइस का भी विकास किया है। इसका उपयोग बचाव टीमें कर सकती हैं। इसमें एक छोटा एंटीना लगा होता है। इसे खोजबीन अभियान में जुटी टीम के स्मार्टफोन से जोड़ा जा सकता है।
इस तरह काम करता है ऐप
किसी हादसे या मुसीबत की स्थिति में पीडि़त व्यक्ति को सिर्फ अपने मोबाइल फोन ऐप को सक्रिय करना होगा। यह पीडि़त व्यक्ति के अचेत होने पर भी घंटों और कई दिनों तक समय-समय पर संकट के संकेत भेजता रहेगा।