बीफ के शक में हत्या

झारखण्ड। झारखंड के रामगढ़ में बीफ के शक में मीट व्यापारी अलीमुद्दीन अंसारी की हत्या में बीजेपी नेता की गिरफ्तारी के बाद पार्टी अपने नेता के बचाव में उतर गई है। पार्टी ने रविवार को नित्यानंद महतो के बचाव में कहा कि वह एक समर्पित पार्टी कार्यकर्ता हैं, उनका बजरंग दल या फिर गौरक्षा समिति से कोई संबंध नहीं है। गौरतलब है कि 29 जून को राज्य के रामगढ़ में बीफ के शक में एक मीट व्यापारी की भीड़ ने पीटकर हत्या कर दी गई थी।