बेमियादी चक्का जाम, ठहरी रफ्तार

– पूरी रात सड़क पर ही सोये किसान, आठ किलोमीटर लम्बी वाहनों की लगी लाइन, पुलिस-प्रशासन हुआ बेबस
श्रीगंगानगर। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर किसानों का बेमियादी चक्काजाम पूरी रात से जारी है। साधुवाली, सूरतगढ़, हनुमानगढ़ रोड बाइपास पर वाहनों की लम्बी कतारें लगी हुई हैं। किसी भी वाहन को आगे जाने नहीं दिया जा रहा।
किसान सड़क के बीच में टैंट लगाकर बैठे हैं। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस तैनात है, लेकिन किसानों के आक्रोश के आगे पुलिस-प्रशासन बेबस सा है। साधुावाली से लेकर पंजाब के सरवरखुइयां तक वाहनों की लम्बी लाइनें लगी हुई हैं। हजारों ट्रक व अन्य वाहन जाम में फंस गये हैं। रफ्तार पूरी तरह से ठहर चुकी है। ट्रक संचालक ट्रकों के नीचे खाना पका रहे हैं। वैसे तो अखिल भारतीय किसान सभा व किसान संघर्ष समिति के नेतृत्व में पूरे राज्य में चक्काजाम चल रहा है।
श्रीगंगानगर जिले की विभिन्न मण्डियों में भी किसानों की अलग-अलग टोलियों ने चक्काजाम कर रखा है इस कारण लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। सरकार को करोड़ों रुपयों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। जयपुर के कृषि भवन में आंदोलनकारी नेताओं और सरकार के मंत्रियों के साथ दूसरे दौर की आज वार्ता दोपहर एक बजे शुरू हो गई।
गत दिवस दोपहर को 3 बजे चक्काजाम शुरू किया गया, जो पूरी रात जारी रहा। इस दौरान आंदोलनकारी नेताओं ने एम्बुलेंस, सेना के वाहनों को ही जाने दिया। सड़कों पर टायर जलाकर किसान बैठे हुए हैं। उनमें सरकार के प्रति भारी आक्रोश देखा जा रहा है। साधुवाली में किसी भी वाहन को आगे जाने नहीं दिया जा रहा। हालांकि कुछ वाहन लिंक नहर से होते हुए गंगनहर के किनारे पटरी से निकल रहे हैं, जो काफी दुर्गम रास्ता है।
हनुमानगढ़ रोड बाइपास पर किसानों का सड़क पर धरना : अखिल भारतीय किसान सभा के जिलाध्यक्ष कालू थोरी, का. हेतराम बेनीवाल, राकेश ठोलिया, विजय रेवाड़ आदि अनेक किसानों के नेताओ के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने हनुमानगढ़ रोड बाइपास पर भी जाम लगा रखा है। देर रात्रि से यह किसान सड़क पर ही डटे हुए हैं। कालू थोरी ने बताया कि वाहनों की लम्बी कतारें लगी हुई हैं। जब तक सरकार मांगे नहीं मानेंगी, तब तक यह बेमियादी चक्काजाम जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि दूसरे दौर की वार्ता शुरू हो चुकी है। यदि इस वार्ता में समस्या का समाधान नहीं हुआ तो किसान सरकार से अब आर-पार की लड़ाई लड़ेगा। उन्होंने कहा कि पूरे जिले की मण्डियों में चक्काजाम चल रहा है। रायसिंहनगर, अनूपगढ़, घड़साना, रावला आदि क्षेत्रों में किसान विभिन्न मार्गांे पर डटे हुए हैं।
32 एमएल चौक पर आक्रोशित हुए किसान : पदमपुुर रोड 32 एमएल चौक पर भी आक्रोशित किसानों ने चक्काजाम कर दिया है। यहां भी वाहनों की कतारें लगनी शुरू हो गई हैं। गांव 6, 4 एमके, 32 एमएल, उड़सर, 31 एमएल, 4 टीके, 10 एमके, मुकलावा, डाबला, 33 एमएल आदि गांवोंं के लोग सहयोग दे रहे हैं। नरेन्द्र सिंह भुल्लर अध्यक्ष नहर समिति, कृष्ण बिश्नोई, संजय गोदारा, हंसराज सिंह सहित काफी संख्या में लोग जाम लगाये हुए हैं।