Search

बैली फैट को सिर्फ हफ्तेभर में खत्म करता है 1 चम्मच शहद

बैली फैट यानि कि पेट की चर्बी से हर कोई छुटकारा पाना चाहता है। शरीर के अन्य अंगों का मोटापा फिर भी सहनीय होता है लेकिन बैली फैट पर्सनेलिटी खराब करने के साथ ही कई बीमारियों को भी न्यौता देता है। आज के दौर में ज्यादातर लोगों की समस्या है पेट पर जमा फैट। इसका मुख्य कारण है कि लोग आराम तलब हो गए हैं जिससे उनकी शारीरिक गतिविधि कम हो रही है। खुद को एक्टिव रखने के लिए जरूरी है कि आप व्यायम के साथ अपने आहार पर खास ध्यान दें। अगर आप अपने बढ़ते पेट से परेशान हो गए हैं तो आपकी इस समस्या को समझते हुए हम आपके लिए एक ऐसा उपाय लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप अपनी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।
कमाल है शहद
शहद कई गुणों से भरपूर है। शहद में विटामिन ए, बी, सी, आयरन, कैल्शियम और आयोडीन पाया जाता हैं। यह कार्बोहाइड्रेट का भी प्राकृतिक स्रोत है इसलिए इसका सेवन से शरीर में शक्ति, स्फूर्ति और ऊर्जा आती है। रोजाना सुबह 1 ग्लास गुनगुने पानी के साथ 2 चम्मच शहद का सेवन करें। आप शहद को पानी में घोल कर भी पी सकते हैं और पानी के साथ चम्मच से भी खा सकते हैं। इस प्रक्रिया को कुछ दिन तक करने से ही आपको फर्क दिखने लगेगा।
ग्रीन टी
नेचुरल कैफीन से शरीर का मेटाबॉलिज़म ठीक रहता है। इसे पीने से आपको एनर्जी भी मिलती है, जिस कारण आपकी फिजि़कल एक्टिविटीज़ भी बढ़ती हैं और ज़्यादा कैलोरीज़ बर्न होती हैं। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स की भी भरपूर मात्रा है, जो बॉडी से टॉक्सिन्स बाहर निकालती है।
ब्रेकफास्ट कभी मिस न करें
सुबह उठने के बाद कुछ खाना बेहद ज़रूरी है, क्योंकि खाने के बाद ही मेटाबॉलिज़म शुरू होता है। कई लोगों को लगता है कि अगर वो मील स्किप करेंगे, तो जल्दी पतले होंगे। जबकि, ऐसा कुछ नहीं है। ब्रेकफास्ट करने से ना हम पहले से ज़्यादा चीज़ों पर फोकस कर पाते हैं, बल्कि बाद में भूख भी कम लगती है और हम जंक फूड से दूर रहते हैं। रिसर्च के मुताबिक, जो लोग वजऩ कम कर रहे हैं, उन्हें अपने ब्रेकफास्ट में ज़्यादा से ज़्यादा प्रोटीन्स शामिल करने चाहिए।
तनाव भी है वजह
तनाव मोटापे की एक बड़ी वजह है। आधुनिक समय में शायद ही कोई ऐसा हो जिसे तनाव न हो क्योंकि तनाव आज के लाइफस्टाइल की देन है। अक्सर तनाव व चिंताग्रस्त होने की वजह से लोगों को ज्यादा भूख लगती है। शरीर की चयापचय प्रक्रिया धीमी हो जाती है नतीजतन शरीर में एकत्र कैलोरी का नष्ट होना मुश्किल हो जाता है। इस वजह से मोटापा बढ़ता है।
योग से अच्छा कुछ नहीं
नियमित योग के जरिए भी पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है। जैसे धनुर आसन इस आसन को करने के लिए आप पहले पेट के बल लेट जायें। इस पोजीशन में आपके हाथ नीचे की ओर होने चाहिये। धीरे-धीरे अपने पैर और सिर व कंधा ऊपर की ओर उठायें। सही पोजीशन आने पर अपने हाथों से पैरों को कस कर पकड़ लें। इस पोजीशन में करीब 10 सेकेंड तक बने रहें। इसके अलावा पश्चिमोत्थालन आसन इस आसन क्रिया में आपके पेट पर दबाव पड़ता है, जिसका सीधा प्रभाव पेट की चर्बी पर पड़ता है। इससे आपका पेट अंदर की ओर पुश होगा। यदि आपका पेट आगे की ओर कुछ ज्यादा ही निकल आया है तो इस आसन से आपको काफी लाभ होगा।