भक्तों की टोली संग भजनों की होली

– सिद्धपीठ श्रीझांकी वाले बालाजी बगीची में शानदार हुई ‘होली धमाळÓ
श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी सिद्धपीठ श्री झांकी वाले बालाजी बगीची में सोमवार को अद्भुत नजारा था। कान्हा के भजनों पर कोई झूम रहा था तो किसी का मन मस्तिष्क भजनों की मस्ती में हिलोरे मार रहा था। इसी बीच राधा- कृष्ण का रास रचा तो बगीची में छत से फूलों की बारिश हुई। श्री बांकेबिहारी लाल के जयकारों से परिसर गूंज उठा। होली के मौके पर भक्तों पर भजनों की ऐसा रंग चढ़ा कि सुबह से कब दोपहर हो गई, पता ही नहीं चला। मौका था बगीची में ‘होली धमाळÓ का। मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल ‘गुरूजीÓ, मदनगोपाल अग्रवाल, बृजेश तलवार सहित कई सदस्यों ने भजन प्रस्तुत किए।
शानदार रहा राधा- कृष्ण का स्वरूप
कार्यक्रम के दौरान राधा-कृष्ण का स्वरूप शानदार रहा। राधा- कृष्ण के वेश में छात्राओं ने भजनों पर सुंदर नृत्य किया। श्रीमती नीतू कालड़ा ने इन छात्राओं को पंद्रह दिन पहले से विशेष तैयारी करवाई तथा अपने हाथों से इनकी पौशाक तैयार की। इनमें सोनू लोचन व उमिशा सोनी ने कन्हैया का रूप धरा तथा पायल शर्मा व रक्षा अग्रवाल ने राधारानी का रूप धरा। शिल्पी खत्री व नैनो सिंगल ने गुजरी का स्वरूप धारण करके नृत्य किया।