भारत व पाकिस्तान पर जासूसी मैलवेयर का हमला

डिजीटल सुरक्षा कंपनी सिमटेक कॉर्प ने एक स्थायी साइबर जासूसी अभियान की पहचान की है। कंपनी ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के क्षेत्रीय सुरक्षा मुद्दों से जुड़े उद्यमों के खिलाफ यह साइबर जासूसी अभियान सरकार समर्थित अभियान जैसा है।
सिमटेक ने जुलाई में अपने क्लाइंटों को इंटेलीजेंस रिपोर्ट भेजी थी। इस रिपोर्ट में कंपनी बताया था कि यह ऑनलाइन जासूसी का प्रयास अक्टूबर 2016 से शुरू हुआ है। कुछ समूहों द्वारा यह अभियान चलाया जा रहा है। युक्ति और तकनीक से पता चलता है कि सभी समूहों का लक्ष्य समान है या ये एक ही प्रायोजक के तहत संचालित हैं। यह प्रायोजक कोई देश है।
रिपोर्ट में हालांकि किसी देश का नाम नहीं दिया गया है। साइबर जासूसी से क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया है। यह रिपोर्ट ऐसे समय में सामने आई है जब भूटान सीमा के पास डोकलाम में भारत और चीन के बीच तनातनी है। दूसरी तरफ जम्मू एवं कश्मीर की सीमा पर पाकिस्तान के साथ भी भारत तनाव झेल रहा है।