महाराष्ट्र में दस दिवसीय विपश्यना शिविर में शामिल हुए केजरीवाल

मुंबई। दिल्ली में विधानसभा उपचुनाव के व्यस्त प्रचार कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल महाराष्ट्र के इगतपुरी में 10 दिवसीय विपश्यना ध्यान शिविर में हिस्सा ले रहे है। आम आदमी पार्टी (आप) के नेता केजरीवाल ने कल शाम नासिक जिले के इगतपुरी में विपश्यना के सत्र की शुरूआत की। आप की प्रवक्ता प्रीति शर्मा मेनन ने पीटीआई को बताया, ”अरविंद जी ने कल शाम पांच बजे विपश्यना के सत्र की शुरूआत की।” उन्होंने कहा, ” विपश्यना केन्द्र के प्रबंधन ने उनका बड़ी ही गर्मजोशी और सम्मान के साथ अभिवादन किया। वह पहले ही विपश्यना के 22 सत्र कर चुके हैं।” मेनन ने कहा, ” केन्द्र प्रबंधन ने उनसे अपना फोन देने के लिए कहा और उन्होंने ऐसा ही किया।” उन्होंने बताया कि विपश्यना सत्र का समापन 19 सितंबर को होगा। इस ध्यान सत्र के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अखबारों, टेलीविजन या किसी भी तरह के मीडिया से दूर रहेंगे। पिछले साल भी अगस्त माह में केजरीवाल ने हिमाचल प्रदेश के धरमकोट स्थित एक ध्यान केंद्र में 10 दिवसीय विपश्यना सत्र में हिस्सा लिया था। माना जाता है कि ध्यान साधना से उनका नाता काफी पुराना है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव और वर्ष 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में बेहद व्यस्त चुनाव प्रचार के बाद भी आप प्रमुख विपश्यना के लिये गए थे। इस बार बवाना उपचुनाव के लिए व्यस्त प्रचार अभियान के बाद वह फिर विपश्यना की राह पर चल पड़े। इस उपचुनाव में उनकी पार्टी जीती थी। पंजाब और गोवा विधानसभा चुनाव में कई महीनों के चुनाव प्रचार के बाद केजरीवाल उच्च रक्त शर्करा के प्राकृतिक उपचार के लिये इस साल की शुरुआत में बेंगलुरू गये थे।