मुंबई में बाढ़ के दौरान डॉक्टर की मौत : चार गिरफ्तार

मुंबई। मुंबई में 29 अगस्त को हुई मूसलाधार बारिश के दौरान एक खुले मेनहोल में गिर जाने के कारण एक जाने माने डॉक्टर की मौत के मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। डॉक्टर दीपक अमरापुरकर जब पानी से लबालब भरी सड़क के किनारे चल रहे तभी वहां बने एक खुले मेनहोल में गिरने से उनकी मौत हो गयी थी। डॉक्टर अमरापुरकर यहां के बॉम्बे हॉस्पिटल में गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट थे। उनकी मौत से चौतरफा आक्रोश फैल गया था। मध्य मुंबई में दादर पुलिस ने कल इस संबंध में सिद्धेश भेलसेकर, राकेश कदम, नीलेश कदम और दिनेश पवार को गिरफ्तार किया है। ये सभी पनेल इलाका में एक चॉल में रहते थे। पुलिस ने बताया कि जांच में यह पता चला कि उन्होंने मेनहोल इसलिए खुला रखा था ताकि इलाके का पानी जो उनके घरों में घुस गया था वह इस मेनहोल के जरिये निकल जाये। घटना वाले दिन यातायात जाम में फंस जाने के कारण अपनी कार से उतरने के बाद से डॉक्टर अमरापुरकर लापता चल रहे थे। डॉक्टर अमरापुरकर 29 अगस्त को एलफिंस्टन रोड स्टेशन के निकट पानी से भरी सड़क के किनारे स्थित अपने घर तक पैदल जाने के इरादे से कार से उतरे थे। वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्होंने एक व्यक्ति को पानी में चलने के दौरान मेनहोल में गिरते हुए देखा था। दो दिन बाद मुंबई के वर्ली इलाके में एक नाले से अमरापुरकर का शव बरामद हुआ था। दादर पुलिस थाने से एक अधिकारी ने बताया कि चारों आरोपियों के खिलाफ धारा 304 (ए) (लापरवाही के चलते मौत) के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है।