Search

मेडिकल कॉलेज के लिए टंकी पर चढ़े तीन युवक

– तुरन्त निर्माण कार्य शुरू करने की मांग
श्रीगंगानगर। मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर संघर्ष समिति की ओर से चल रहे आन्दोलन के तहत बुधवार को तीन युवक डी ब्लॉक स्थित पानी की टंकी पर जा चढ़े।
तीनों युवक आज ही सरकारी मेडिकल कॉलेज निर्माण शुरू करने के सम्बन्ध में लिखित आश्वासन, एमओयू की अवधि नहीं बढ़ाकर सरकार द्वारा ही मेडिकल कॉलेज का निर्माण करने व टंकी पर चढ़े युवकों पर पुलिस केस नहीं बनाने की मांग कर रहे हैं। सुबह राजू वाल्मीकि, देवकरण नायक व हरकेवल सिंह के पानी की टंकी पर चढऩे की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन ेके अधिकारी वकीलों वाली डिग्गी पहुंच गये।
मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर युवक के टंकी पर चढ़े होने की जानकारी मिलते ही कांग्रेस के नेता व कुछ पार्षद भी मौके पर पहुंचे और तमाशबीनों में शामिल हो गये।
दोपहर तक तीनों युवक टंकी पर चढ़े हुए थे। इस दौरान कई बार उपखंड अधिकारी यशपाल आहुजा ने मोबाइल फोन के जरिये तीनों युवकों से समझाईश का प्रयास किया। उन्होंने तीनों युवकों से जयपुर में मेडिकल कॉलेज के विषय पर आज दोपहर बाद होने वाली बैठक तक अपना आन्दोलन स्थगित रखने के लिए कहा, लेकिन नीचे डिग्गी के पास धरना लगाये बैठे संघर्ष समिति के अन्य लोग तुरन्त मेडिकल कॉलेज निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने की मांग पर अड़े रहे। तीनों युवकों के टंकी पर चढ़े होने के कारण वकीलों वाली डिग्गी के आस-पास तमाशबीनों की भीड़ जुटी रही।
उप पुलिस अधीक्षक तुलसीदास सहित पुलिस के कई अधिकारी व आरएसी के जवान मौके पर तैनात रहे। पिछले 62 दिन से संघर्ष समिति के बैनर तले शहर के युवाओं द्वारा अम्बेडकर चौक पर मेडिकल कॉलेज के लिए धरना लगाया जा रहा है। आज सुबह आन्दोलनकारियों ने अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए टंकी पर चलने का निर्णय ले लिया।
श्रेय लेने का प्रयास
सरकारी मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर पिछले दो-तीन दिन से सरकार के सकारात्मक रूख को देखते हुए घटनाक्रम बदल रहा है। कुछ लोग सरकार के सकारात्मक रूख के कारण मेडिकल कॉलेज के एमओयू को बढ़ाये जाने के प्रति आश्वत होते हुए इसके लिए श्रेय लेने के लिए के प्रयासों में जुट गये हैं। इसी का परिणाम टंकी पर चढ़े युवकों व उनके पक्ष में पहुंचे नेताओं के रूप में देखा जा रहा है।