BREAKING NEWS
Search

रक्त को शुद्ध करता है शहद

शहद एक मीठा, चिपचिपाहट वाला अर्ध तरल पदार्थ होता है जो मधुमक्खियों द्वारा पौधों के पुष्पों में स्थित मकरन्दकोशों से स्रावित मधुरस से तैयार किया जाता है और आहार के रूप में संग्रह किया जाता है। शहद में जो मीठापन होता है वो खासकर ग्लूकोज़ और एकल शर्करा फ्रक्टोज के कारण होता है। शहद का प्रयोग औषधि रूप में भी होता है। शहद में ग्लूकोज व अन्य शर्कराएं तथा विटामिन, खनिज और अमीनो अम्ल भी होता है जिससे कई पौष्टिक तत्व मिलते हैं जो घाव को ठीक करने और उतकों के बढऩे के उपचार में मदद करते हैं। प्राचीन काल से ही शहद को एक एंटीबैक्टीरियल के तौर पर जाना जाता है।
– रक्त को साफ करने यानी रक्त शुद्धि के लिए भी शहद का सेवन करना चाहिए।
– शहद में विटामिन ए, बी, सी, आयरन, कैल्शियम, सोडियम फास्फोरस, आयोडीन पाए जाते हैं। रोजाना शहद का सेवन शरीर में शक्ति, स्फर्ति, और ताजगी पैदाकर रोगों से लडऩे की शक्ति भी बढ़ाता है।
– कफ एवं अस्थमा को शहद के इस्तेमाल से दूर किया जा सकता है। अदरक के रस में शहद मिलाकर देने से खांसी में आराम मिलता है।
– उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में शहद कारगर है।
– दिल को मजबूत करने, हृदय को सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन शहद खाना अच्छा रहता है।
– रोजाना शहद का सेवन करने से सेहत बनती है और शरीर मोटा होता है। दिमागी कमजोरियां दूर होती है।
– शहद का सेवन झाइयां और मुंहासे को दूर कर चेहरे पर कांति लाता है। आप गुलाब जल, नींबू और शहद मिलाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं।
– गर्मियों में रोजाना पानी के साथ शहद के सेवन से पेट हल्का रहता है।
– पके आम के रस में शहद मिलाकर लेने से पीलिया में लाभ मिलता है।
– चेहरे की खुश्की दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का उबटन लगाना चाहिए। इससे चेहरे पर चमक भी आएगी।