BREAKING NEWS
Search

रात में क्यों नहीं काटना चाहिए आपको नाखून

शाम को ये सारे काम नहीं करने चाहिए। क्योंकि इससे धन के साथ स्वास्थ्य की भी हानि होती है।
नहीं काटने चाहिए रात में नाखून
ये परंपरा पुराने जमाने से चली आ रही है। पुराने जमाने में बिजली नहीं होती थी और ना नेल कटर होता था। इस कारण पहले लोग ब्लेड, कैंची या चाकू से नाखून काटते थे। ऐसे में बिजली नहीं रहने के कारण इन चीजों से चोट लगने के डर से रात को नाखून नहीं काटने को कहा जाता था। इसके अलावा ये भी माना जाता है कि रात में नाखुन काटने से लक्ष्मी जी रुष्ट हो जाती हैं जिससे धन की हानि होती है।
गुरुवार को नहीं करते शेविंग
गुरुवार को अमूमन लोग शेविंग नहीं करते। यहां तक की गुरुवार को बाल भी नहीं काटे जाते। गुरुवार को बाल ना काटने की परंपरा इतनी अटूट और पुरानी है कि इस दिन पार्लर भी बंद ही रहते हैं। दरअसल गुरुवार को बृहस्पति यानी देवताओं के गुरु का दिन माना जाता है जो भाग्य का कारक होते हैं। ऐसे में मान्यता है कि जो लोग इस दिन शेविंग करते हैं या बाल काटते हैं उनका भाग्य खराब हो जाता है।
शाम को तुलसी को नहीं छूते
हिंदु परंपरा में शाम को तुलसी के पास दीपक जलाने की तो मान्यता है लेकिन उसे छूने और उसपर जल चढ़ाने की मान्यता नहीं है। रोज शाम को तुलसी के पास दीपक जलाने से घर में लक्ष्मी जी की कृपा होती है। वहीं शाम को तुलसी के पेड़ को छूने से लक्ष्मजी रुष्ट हो जाती है। क्योंकि शाम के समय तुलसी सोती है और आपके छूने से वो जग जाती है। खैर ये मान्यता तो हर पेड़-पौधों पर लागू होती है।
शाम को झाड़ू भी नहीं लगाना चाहिए
ये मान्यता भी पुराने समय से चली आ रही है। पहले बिजली नहीं रहती थी तो माना जाता था कि रात को झाड़ू लगाने से घर में गिरे पैसे बाहर जा सकते हैं। इसलिए शाम और रात को झाड़ू लगाना मना था। वैसे भी शाम को पूजा करने का समय होता है इसलिए भी शाम को झाड़ू लगाने की मनाही होती है। अगर झाड़ू लगाना जरूरी है तो शाम से पहले ही घर साफ कर लें।
शाम को सोने से होते हैं मोटे
शाम को सोना स्वास्थ्य की दृष्टि से भी और पैसे की दृष्टि से भी अच्छा नहीं माना जाता। जो लोग नियमित रुप से शाम को सोते हैं, वे मोटापे और दरिद्रता के शिकार होते हैं। शाम को सोने से आलस्य बढ़ता है और आप शारीरित तौर पर कम एक्टिव रहते हैं जिससे मोटापा और अन्य बीमारियां होती हैं।