राम रहीम प्रकरण पर बोले रामदेव और राधे मां

– जो अपराधी है, सजा भुगते और आचरण में सुधार लाए
हरिद्वार। साध्वी से यौन शोषण मामले में दोषी ठहराए गए डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के प्रकरण पर योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा कि कानून का सम्मान सभी को करना चाहिए, जिसने अपराध नहीं किया उसको डरना नहीं चाहिए. अगर अपराध किया है तो उसे सजा भुगतना चाहिए और अपने आचरण में सुधार लाना चाहिए। रामदेव ने कहा कि हर 2-3 साल बाद किसी ना किसी साधु-संत पर इस तरह का आरोप सामने आता है, हालांकि आरोप लगने से कोई अपराधी नहीं होता. उन्होंने कहा कि अगर किसी 15 साल सुनवाई के बाद भी कोई अपराधी साबित होता है, तो उसके साथ अपराधी वाला व्यवहार होना चाहिए. कोई भी गलत काम करेगा, तो कानून अपना काम करेगा।
योगगुरू बोले कि हमारे ऊपर पर भी कई तरह के आरोप लगे, हमारे ऊपर कई तरह के केस दर्ज हुए हैं. लेकिन हमने हर आरोप का सामना किया है. उन्होंने कहा कि हमने कभी भी कानून को अपने हाथ में नहीं लिया है, ना ही अपने समर्थकों को लेने देंगे।
रामदेव बोले कि धार्मिक अपराधीकरण , राजनीतिक अपराधिकरण देश को पीछे ले जाता है. किसी भी क्षेत्र में जो व्यक्ति शीर्ष पर बैठा है उसका दायित्व है कि वो कोई भी ऐसा काम ना करे, जिससे की गलत बात की ओर किसी का ध्यान चाहे. उन्होंने कहा कि धर्म का चोला पहनकर अगर कोई व्यक्ति इस प्रकार का आचरण करता है उससे तूफान आता ही है. उन्होंने कहा कि धर्म की आचार संहिता योग, अहिंसा, सदाचार है।