राम रहीम से खफा कैदी, दूसरे जेल में शिफ्ट करने की उठी मांग

रोहतक। साध्यिवों से दुष्कर्म मामले में सजा सुनाए जाने के बाद से गुरमीत राम रहीम सिंह रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है। राम रहीम के यहां आते ही दूसरे कैदियों का जीना मुहाल हो गया है। जेल से सजा पूरी कर बाहर आए एक शख्स ने बताया, राम रहीम के आने से अन्य कैदियों के लिए जेल के अंदर जेल बन गई है। पहले सुबह और शाम दो-दो घंटे सभी कैदियों को जेल परिसर में घुमने के लिए बैरक से बाहर निकाला जाता था, लेकिन राम रहीम के आते ही यह बंद हो गया। यही नहीं, कैद पहले लैंडलाइन फोन पर अपने परिजनों से बात कर सकते थे। राम रहीम के आते ही यह भी बंद कर दिया गया है। इससे अन्य कैदी खफा हैं और मांग कर रहे हैं कि रेपिस्ट बाबा को कहीं और शिफ्ट किया जाए। मालूम हो, सुनारिया जेल में करीब 1500 कैदी बंद हैं। सीबीआई कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद राम रहीम को भी यहीं रखा गया है। उसकी सुरक्षा के लिए अतिरिक्त बंदोबस्त किए गए हैं। साध्वी यौन शोषण मामले में जेल में बंद सच्चा सौदा डेरा प्रमुख राम रहीम की मुसीबतें अभी खत्म नहीं हुई है। राम रहीम पर पत्रकार छत्रपति और सेवादार रहे रंजीत की हत्या का आरोप है। इस केस में 16 सितंबर को पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में सुनवाई होगी। सुनारिया जेल में बंद राम रहीम को व्यक्तिगत रूप से पेश किया जाएगा या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उसकी पेशी होगी ये सीबीआई तय करेगी।