राहुल गांधी पुलिस हिरासत में

– किसान आंदोलन के सिलसिले में बाइक पर सवार होकर पहुंचे थे मध्यप्रदेश
उदयपुर। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आज मध्यप्रदेश में प्रवेश करने पर एमपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह व सचिन पायलट सहित कई नेता उनके साथ हैं।
राहुल को निंबाहेड़ा में मध्यप्रदेश के मंदसौर में प्रवेश करने से रोका गया। इस पर भीलवाड़ा में जहाजपुर के विधायक धीरज गूजर की बाइक पर बैठ गए और वहां से मंदसौर के लिए रवाना हो गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें रोका तो वे रास्ता बदल कर वहां से वे नीमच के लिए पैदल रवाना हो गए। इससे पहले सुबह उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पहुंचने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट सहित कई नेताओं ने उनकी अगवानी की।  नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी, मप्र के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, गिरिजा व्यास महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष शोभा ओझा, महेंद्र जीत सिंह मालवीय सहित कई नेता व पदाधिकारी एयरपोर्ट पहुंचे।
एयरपोर्ट पर बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे। हाथों में राहुल के पोस्टर लिए कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए। राहुल के एयरपोर्ट के बाहर आते ही कार्यकर्ता उनके स्वागत के लिए उमड़ पड़े जिन्हें कंट्रोल करने के लिए पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी।
किसान को गोली देते हैं मोदी
उदयपुर। हिरासत में लिए जाने के बाद राहुल ने कहा कि बिना वजह बताए रोक लिया गया। उन्होंने कहा कि मैं किसानों से मिलना चाहता था लेकिन ना  मुझे यूपी जाने दिया गया ना ही मंदसौर। राहुल ने कहा कि ना किसानों का कर्जा माफ करते हैं ना बोनस देते हैं,बस गोलियां देते हैं। राहुल ने कहा कि मोदी किसान को गोली देते हैं। राहुल ने कहा कि किसानों की मौत के लिए नरेंद्र मोदी और शिवराज सिंह जिम्मेदार हैं। इसके बाद राहुल ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा कि राजस्थान और मध्य प्रदेश की सरकार ने मुझे मंदसौर में मारे गए किसानों से मिलने और राज्य में घुसने से रोकने के लिए अपना सर्वेश्रेष्ठ काम किया।