BREAKING NEWS
Search

रिश्वतखोर एईएन व उसके साथी को जमानत नहीं

श्रीगंगानगर। रिश्वत मांगने के मामले में न्यायालय ने रिश्वतखोर एईएन व उसके साथी की ओर से लगाई जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। प्रकरण के अनुसार सतपाल सिंह पुत्र मालासिंह निवासी चक 4 एसएचपीडी ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में रिपोर्ट दी।
परिवादी ने बताया कि चक एसएचपीडी की ढाणी में घरेलू विद्युत कनेक्शन के लिए आरोपी रिषिराज मीणा पुत्र भरतूराम एईएन विद्युत विभाग सूरतगढ़ ने 3000 रिश्वत की मांग की। रिश्वत मांग की राशि का सत्यापन कराया गया। आरोपी एईएन ने परिवादी से 2500 रुपए का चैक प्राप्त किया। खाता में राशि नहीं होने से अनादरित हो गया। आरोपी ने परिवादी से अनादरित चैक वापिस लेने व 2500 रुपए नकद की मांग की।
27 जनवरी को टे्रप की कार्रवाई के समक्ष आरोपी ने रिश्वत की राशि अपने साथी हेतराम पुत्र भरतूराम मीणा निवासी करौली के माध्यम से प्राप्त की। आरोपियों को गिरफ्तार कर विशिष्ट न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम) में पेश किया तो दोनोंं को न्यायालय ने 10 फरवरी तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए। आरोपियों की ओर से जमानत याचिका लगाई गई, जिसे न्यायालय ने खारिज कर दिया।