रेजोनेंस गु्रप की 106 करोड़ की काली कमाई उजागर

जयपुर। कोटा के रेजोनेन्स कोचिंग ग्रुप पर आयकर विभाग की छापे की कार्रवाई में बड़े पैमाने पर कालेधन का खुलासा हुआ है. आयकर विभाग की चार दिन की छापेमार कार्रवाई के बाद अभी तक रेजोनेन्स कोचिंग ग्रुप की कुल 106 करोड़ रुपए की काली कमाई सामने आ चुकी है। छापे की कार्रवाई के बाद रविवार देर रात रेजोनेन्स कोचिंग ग्रुप के मालिक आरके वर्मा ने आयकर विभाग के सामने सरेन्डर कर दिया है. वर्मा ने खुद आयकर विभाग के सामने 70 करोड़ रुपए की काली कमाई सरेंडर कर दी है।
रेजोनेन्स के मालिक के अलावा इनके परिजन और एसोसिएट्स ने भी 36 करोड़ रुपए की काली कमाई सरेंडर की है. आयकर छापों में आरके वर्मा के ठिकानों से काली कमाई से किए गए गोरखधंधों के बड़े पैमाने पर दस्तावेज जब्त किए गए है। छापे की कार्रवाई के चौथे दिन आयकर विभाग ने रेजोनेन्स कोचिंग ग्रुप पर मिली अघोषित नकदी में 38 लाख रुपए जब्त कर लिए हैं, जबकि 85 लाख रुपए की ज्वैलरी भी जब्त की गई है। रेजोनेन्स कोचिंग गु्रप पर चल रही कार्रवाई में आयकर विभाग को बड़े पैमाने पर अवैध संपत्तियों, बैंक खातों और बैंक लॉकर्स की जानकारी भी मिली है. विभाग ग्रुप से जुड़े सभी बैंक खाते, लॉकर्स और दस्तावेजों की छानबीन में जुट गया है। गौरतलब है कि चार दिन पहले आयकर विभाग ने रेजोनेन्स कोचिंग ग्रुप के मालिक आरके वर्मा के घर, दफ्तर सहित कोटा, जयपुर, बैंगलोर में 18 ठिकानों पर एक साथ छापे की कार्रवाई की थी।