रोडवेज कर्मचारी रिश्वत लेते गिरफ्तार

– चालक पर जुर्माना कम करने की एवज में ली थी रिश्वत
श्रीगंगानगर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने रोडवेज के अनूपगढ़ आगार के एक कर्मचारी को 1300 रुपए की रिश्वत लेते आज दोपहर गिरफ्तार कर लिया। बस का टायर फटने पर चालक पर जुर्माना राशि कम करने की एवज में कर्मचारी ने रिश्वत ली थी। आज दोपहर समाचार लिखे जाने तक एसीबी की टीम अनूपगढ़ आगार कार्यालय में कार्रवाई कर रही थी।
एसीबी की स्थानीच चौकी के प्रभारी एएसपी राजेन्द्र डिढ़ारिया ने बताया कि रोडवेज में अनुबंधित चालक हेतराम पुत्र जगदीश जाट निवासी खाटां रायसिंहनगर ने एसीबी कार्यालय में शिकायत दर्ज करवाई।
चालक हेतराम ने एसीबी को बताया कि वह रोडवेज की बस नम्बर आरजे 13 पीए-4478 पर चालक है। दस जुलाई 2017 को वह बस लेकर अनूपगढ़ से खाजूवाला-बठिण्डा रूट पर गया था। पीलीबंगा में बस का टायर फट गया। निर्धारित किलोमीटर से पहले ही बस का टायर फट गया, तो उस पर 11 हजार रुपए रोडवेज की तरफ से जुर्माना बनता है। इस बारे में उसने अनूपगढ़ आगार में टायर शाखा प्रभारी गुरपाल सिंह से सम्पर्क किया। गुरपाल सिंह ने जुर्माना राशि पांच हजार रुपए करने की एवज में 1500 रुपए की रिश्वत मांग रहा है।
एसीबी के एएसपी श्री डिढ़ारिया ने बताया कि 15 अगस्त व 16 सितम्बर को शिकायत का सत्यापन करवाया, तो कर्मचारी गुरपाल ङ्क्षसह 1300 रुपए की रिश्वत लेने के लिए राजी हो गया। एसीबी ने गुरपाल सिंह को रिश्वत लेने दबोचने के लिए आज सुबह अनूपगढ़ आगार कार्यालय के निकट डेरा डाल लिया था। परिवादी हेतराम ने आज जैसे ही गुरपाल सिंह को रिश्वत की रकम थमाई, इसी दौरान इशारा पाकर एसीबी की टीम ने कर्मचारी गुरपाल ङ्क्षसह को दबोच लिया। उसकी पेंट की जेब से रिश्वत की रकम बरामद हो गई है। कर्मचारी के घर में भी सर्च किया जायेगा।