लिफ्ट देने के बहाने युवती का अपहरण

– चाकू की नोक पर गैंगरेप
चूरू। घर से शैक्षणिक दस्तावेज लेकर ई-मित्रा केन्द्र पर जा रही युवती को लिफ्ट देने के बहाने से उठा लिया गया और फिर युवकों ने उसके साथ गैंगरेप किया। घटना हमीरवास पुलिस थाना क्षेत्र की है। पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर पांच युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। पीडि़ता का आज मेडिकल मुआयना करवाया जा रहा है।
पुलिस के अनुसार 23 वर्षीय पीडि़ता ने बताया कि वह अपने घर से शैक्षणिक दस्तावेज लेकर चांदगोठी में स्थित ई-मित्रा पर मूल निवास बनवाने निकली थी। वह पैदल ही घर से निकली और टैम्पू में बैठ कर जनाऊ मिट्टी लाने वाली थी। गांव से निकलते ही देबू धाणक, मोहन सिंह व धर्मवीर पिकअप जीप लेकर उसके पास आये। गाड़ी देबू धाणक चला रहा था। देबू ने उसके पास गाड़ी रोकी और पूछा कि कहां जा रही है। उसने बताया कि जनाऊ मिट्टी के बाद वह चांदगोठी जायेगी। इस पर देबू धाणक ने उसे कहाकि पिकअप में बैठ जाओ, उसे चांदगोठी छोड़ देंगे। वह जीप में बैठ गई। गांव से निकलते ही रास्ते में मुकेश व संदीप भी जीप में सवार हो गये। सभी युवक जीप में उसे लेकर पिलानी-राजगढ़ मार्ग पर पहुंच गये। जीप में ही मुकेश ने उसके गले पर चाकू तान लिया और धमकाया कि शोर मचाया, तो उसे जान से मार देंगे। वह चुपचाप जीप में बैठी रही।
पास ही टीवीएस कम्पनी के शोरूम के पास एक मकान के चौबारे में उसे ले गये। यहां चाकू की नोकपर देबू धाणक, मोहन सिंह, धर्मवीर, मुकेश व संदीप ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपियों ने उसे धमकी दी कि घटना के बारे में किसी को बताया, तो उसके घरवालों को मार देंगे। वह बड़ी मुश्किल से कमरे से निकली और अपने घर पहुंची। पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि देबू धाणक लकड़ी का काम करता है। पीडि़ता, उसे पहले से जानती है। देबू धाणक का पीडि़ता के घर आना-जाना भी था। ऐसे में वह परिचित होने के कारण देबू धाणक की पिकअप जीप में सवार हो गई थी।