लोगों का पैसा लौटाना बैंकों की जिम्मेदारी : आरबीआई

देहरादून। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने सख्त लहजे में कहा है कि साइबर ठगी के शिकार लोगों का पैसा लौटाना बैंकों की जिम्मेदारी है। बैंक पीडि़तों को एफआईआर दर्ज कराने के लिए बाध्य नहीं कर सकते। ऐसे मामलों में बैंकों को पीडि़तों की शिकायत अविलंब दर्ज करनी होगी। इसके अलावा पुलिस जांच में किसी भी तरह की सूचना उपलब्ध कराना बैंकों की जिम्मेदारी है। एटीएम कार्ड की स्कीमिंग कर तमाम दूनवासियों के खातों से हुई निकासी के मामले में आरबीआई हरकत में आ गया है। मंगलवार को राजपुर रोड स्थित आरबीआई कार्यालय में बैंक के महाप्रबंधक सुब्रत दास ने सभी बैंकों के अधिकारियों संग बैठक की। उन्होंने बैंकों को निर्देश दिए कि छह जुलाई को आरबीआइ की ओर से अवैध ई-ट्रांजेक्शन को लेकर जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक बैंक पीडि़तों को उनकी रकम लौटाने के लिए कार्रवाई करें।