वसुंधरा ने खोला घोषणाओं का पिटारा

– राज्य के बजट मेंं किसानों, बेरोजगारों, विकलांगों, विद्यार्थियों, महिलाओं, युवाओं समेत सबके लिए कोई न कोई ऐलान
– शुरुआत शायरी से मुख्यमंत्री ने बजट भाषण की शुरुआत शेरो-शायरी से की। उन्होंने शेÓर पढ़ा : जिस दिन से चली हूं, मेरी मंजिल पे नजर है, आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा।
जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज विधानसभा में आगामी वित्त वर्ष का बजट पेश करते हुए घोषणाओं का पिटारा खोल दिया। उन्होंने बजट मेंं हर वर्ग को खुश करने की कोशिश की है। किसानों, बेरोजगारों, विद्यार्थियों, महिलाओं, वृद्धों, विकलांगों, श्रमिकों, विधवाओं, युवाओं आदि सबके लिए बजट मेंं कोई न कोई घोषणा सीएम ने की। पैरा टीचर्स एवं मदरसा टीचर्स का मानदेय बढ़ा दिया गया।
उन्होंने महिला दिवस और अपने जन्मदिन पर महिलाओं का भी खास ध्यान रखा। कई घोषणाएं महिला कल्याण के लिहाज से की गई हैं। विधवा पेंशनर्स की पेंशन बढ़ा दी गई।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें प्रदेश की बागडोर खराब हालत में मिली। इसके बावजूद उनकी सरकार प्रदेश को लगातार विकास की ओर अग्रसर कर रही है। उन्होंने विधानसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि यह बजट प्रदेश के आर्थिक और सामाजिक व समग्र विकास के लिए खासा महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश निरंतर प्रगति के मार्ग पर तीन साल से आगे बढ़ रहा है। ये तीन साल खासे चुनौतीपूर्ण रहे हैं और ये चुनौतियां हमेशा हमें मंजूर हैं और हम इनका सामना कर रहे हैं।
राजे ने कहा कि हमने प्रदेश के विकास में कोई अवरोध नहीं आने दिया। जिसका परिणाम सामने है। कौशल विकास के मामले में हमे लगातार दो साल से पुरस्कार मिल रहे हैं।  हमें इन उपलब्धियों को और ऊंचाई पर ले जाना है।
– आगामी वर्ष में पांच हजार नागरिकों को हवाई मार्ग से कराएंगे तीर्थयात्रा
– विधवाओं की पेंशन में एक जुलाई से इजाफा
– विशेष योग्यजन पेंशन से उम्र की पात्रता समाप्त
– विशेष योग्यजन दपंती को अब मिलेंगे पचास हजार
– कृत्रिम अंग लगवाने के लिए अब मिलेंगे दस हजार की राशि
– 5000 से ज्यादा कांस्टेबलों की भर्ती होगी
– सूरतगढ़ मेंं खेलों के विकास के लिए संरचना का ऐलान
– बीकानेर, झुंझुनूं और कोटा में खुलेंगी विभिन्न खेल अकादमी
– हनुमानगढ़ के अस्पताल में खुलेगा बड़ा केन्द्र
– हनुमानगढ़ मेंं बाल गृह बनाने की घोषणा
– बेरोजगारी भत्ता अब 650 रुपए प्रतिमाह