विदेश भागने की फिराक में था राम रहीम, हनीप्रीत ने किया खुलासा

चंडीगढ़। साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में रोहतक जेल में बंद डेरा प्रमुख राम रहीम देश छोड़कर भागने की तैयारी में था। हरियाणा पुलिस की पूछताछ में उसकी सबसे बड़ी राजदार और मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ने ये राज खोला है। गुरमीत राम रहीम को इस बात की आशंका थी कि कोर्ट उसे सजा सुना सकती है। ऐसे में डेरा प्रमुख देश से भागने की फिराक में था। मगर उसका ये प्लान पूरी तरह फेल हो गया। रिपोर्ट की मानें तो 25 अगस्त को हाई कोर्ट के सजा सुनाते ही राम रहीम को पुलिस सुरक्षा के बीच कोर्ट से भगाने की तैयारी थी। जिसका पूरा प्लान तैयार था। सूत्रों की मानें तो डेरा प्रमुख के हाई कोर्ट में पेश होने से लेकर सजा के ऐलान के बाद तक हनीप्रीत विदेश में रहने वाले राम रहीम के समर्थकों के संपर्क में थी। ताकि सजा होने की सूरत में उसे पहले कोर्ट से भगाया जाए और फिर विदेश में रह रहे उसके समर्थकों के जरिए फरारी का इंतजाम किया जा सके। हरियाणा पुलिस के अफसरों ने भी इस बात को माना है कि डेरा प्रमुख की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों ने उसे कोर्ट से भगाने की पूरी प्लानिंग कर रखी थी। इस प्लानिंग की पूरी जानकारी हनीप्रीत की डायरी में दर्ज थी। हालांकि पुलिस अभी तक इसे हासिल नहीं कर पाई है। मीडिया में इस तरह की खबरें भी आई कि अपनी फरारी के 38 दिनों में हनीप्रीत सीमा पार नेपाल पहुंच गई थी। मगर राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ने पुलिस पूछताछ में इस बात से इंकार किया है। उसने पुलिस पूछताछ में बताया कि पंचकूला हिंसा के बाद वो कुछ दिन भटिंडा, राजस्थान और दिल्ली में रही। हनीप्रीत को कुछ दिनों पहले ही पंजाब से गिरफ्तार किया गया था। साध्वियों के दुष्कर्म के मामले में राम रहीम रोहतक जेल में बीस साल की सजा काट रहा है, वहीं उस पर तीस लाख का जुर्माना भी लगाया गया है। राम रहीम को सजा के ऐलान के बाद पंचकूला, सिरसा में भारी हिंसा हुई थी। जिसमें 38 लोगों की मौत हुई थी। वहीं सैंकड़ों घायल हो गए थे।