वोडाफोन इंडिया को स्नङ्घ18 में हुआ 9,805 करोड़ का ऑपरेटिंग प्रॉफिट

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान वोडाफोन इंडिया का संचालन मुनाफा 9,805 करोड़ रुपये रहा है। वहीं इसे वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान 30,690 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था जिसकी वजह यूके स्थित वोडाफोन समूह की ओर से भारतीय इकाई के मूल्यांकन में कमी करना रहा है, क्योंकि उसे 4.5 बिलियन यूरो का कुल नुकसान उठाना पड़ा था। वोडाफोन फिलहाल आइडिया सेल्युलर के साथ मर्जर प्रक्रिया से गुजर रही है, जिसके इस साल जून के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। इन दोनों के मजर्र पर बनने वाली कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी बन जाएगी। वहीं वोडाफोन इंडिया के सीईओ विटोरियो कोलाओ ने कहा कि दोनों कंपनियों ने नई फर्म के लिए ज्वाइंट ब्रांडिंग का काम भी शुरू कर दिया है। वोडाफोन इंडिया को लगातार टैरिफ वॉर के कारण मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान कंपनी का ऑर्गेनिक सर्विस रेवेन्यू 18.7 फीसद गिरकर 35,045 करोड़ रुपए रहा है, जबकि बीते वित्त वर्ष में इस मद में 42,927 करोड़ रुपए प्राप्त हुए थे। वोडाफोन ने कहा, भारत में घाटा जारी है क्योंकि सर्विस रेवेन्यू में 18.7 फीसद की गिरावट देखने को मिली है जिसकी वजह सेक्टर में नई एंट्री के बाद से कीमतों के लेकर तेज हुई प्रतिस्पर्धा है, आक्रामक प्रतियोगी प्रतिक्रियाएं और एमटीआर में उल्लेखनीय कमी देखने को मिली है।