शादी के बाद लड़कियां ऐसे फैन बनाएं ससुराल वाले को

बहुत सारी लड़कियों की चिंता होती है कि वो शादी के बाद की जिम्मेदारियों को ठीक से निभा पाएंगी या नहीं। कई बार लड़कियां इस बात को लेकर भी परेशान होती हैं कि ससुराल वालों के साथ वो कैसे एडजस्ट करेगी या क्या ससुराल वाले उसे पसंद करेंगे या नहीं। शादी के बाद लड़कियों को ससुराल के नए माहौल में एडजस्ट होने में थोड़ा समय लगता है। ससुराल में जहां लड़कियों को अपने नए परिवार के साथ घुलना-मिलना और उन्हें खुश रखना होता है वहीं उनके कंधे पर तमाम जिम्मेदारियां भी आ जाती हैं। घर की बहू होने के कारण ससुराल वालों की आपसे तमाम उम्मीदें और अपेक्षाएं होती हैं। अगर आपकी भी शादी होने वाली है या अभी-अभी हुई है, तो इन टिप्स की मदद से आप भी अपने सास-ससुर और घरवालों की चहेती बन सकती हैं।
बच्चों को प्यार दें और बड़ों को सम्मान
ससुराल में आपको सबसे पहले घर के बच्चों से दोस्ती करनी चाहिए। इसके लिए उन्हें कुछ स्वीट्स और गिफ्ट्स दे सकती हैं। बच्चों से घुलते-मिलते ही बड़ों से घुलने-मिलने में आपको परेशानी नहीं होगी और घर के अन्य सदस्यों को ये अच्छा भी लगेगा। इसके अलावा घर की तमाम चीजों की जानकारी जितने अच्छे से आपको बच्चे दे पाएंगे उतना बड़े नहीं देंगे। इसके अलावा बड़ों के लिए आपके मन में सम्मान की भावना होनी चाहिए। बड़ों के सामने आपको बच्चा बन कर रहना चाहिए।
अपनी हमउम्र से कीजिए दोस्ती
घर में जो भी सदस्य आपकी उम्र का हो उससे दोस्ती करना आसान होता है क्योंकि एक ही उम्र के लोगों के सोचने का तरीका एक होता है और उनके बीच रिश्ता भी जल्दी बनता है। इसलिए घर में ननद, देवर या जो भी हमउम्र हो उससे दोस्ती करें और घर के बारे में, घर के सदस्यों के बारे में जानकारी ले लें।
खुशियों में शामिल हों
घर में जो भी खुशी का मौका हो तो उसमें शामिल हों और कोशिश करें कि आपकी वजह से उस मौके को और ज्यादा खास बनाया जा सके जैसे अगर आपके पति का प्रमोशन हुआ हो या देवर का रिजल्ट अच्छा आया हो तो उस दिन घर में कुछ स्पेशल बनाएं।
घर के रीति-रिवाजों को अपनाएं
हर परिवार के कुछ रीति-रिवाज और हर इलाके की कुछ खास मान्यताएं और त्योहार होते हैं। ससुराल में जाने के बाद आपको अपने घर-परिवार की इन मान्यताओं में शामिल होना चाहिए और इन्हें समझना चाहिए। अगर आप घर के रीति-रिवाजों को फॉलो करेंगी तो घर वालों को अच्छा लगेगा।
काम बांटना सीखें
घर में नया होने के कारण कई बार आप लोगों के काम को मना नहीं कर पाती हैं और अपने हिस्से में जरूरत से ज्यादा काम और जिम्मेदारियां ले लेती हैं, जिन्हें न करने पर आपको शर्मिन्दा होना पड़ता है या जबरदस्ती करने पर आपको खीझ होती है और आपके स्वास्थ्य पर भी प्रभाव पड़ता है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपको काम बांटना सीखना चाहिए और अपने हाथ में उतना ही काम लेना चाहिए जितना आप कर सकें।
रिश्तेदारों को भी प्यार दें
ससुराल में घर के सदस्यों के अलावा कुछ रिश्तेदार भी हो सकते हैं इसलिए आपको घर वालों के साथ-साथ रिश्तेदारों को भी प्यार देना चाहिए और उन्हें भी घर का ही सदस्य समझना चाहिए। कई बार आप घर वालों के साथ तो घुल-मिल जाते हैं लेकिन रिश्तेदारों के साथ आपको अटपटा लगता है। अगर किसी रिश्तेदार का या घर के सदस्य का स्वभाव आपको अटपटा लगता है तो घर के अन्य सदस्यों से पहले अपने पति को इस बारे में बताएं।
किसी की बुराई न करें
कई बार नए घर में जाने के बाद आपको कुछ बातें अटपटी लगती हैं या कुछ सदस्यों का स्वभाव अजीब लगता है, ऐसी स्थितियों से खुद निपटें और अपने पति से बताएं। जबकि कुछ लड़कियां इन स्थितियों में अपने मायके वालों से और दोस्तों से ससुराल वालों की बुराई करनी शुरू कर देती हैं जबकि थोड़े समय बाद आप खुद उस माहौल में ढल जाती हैं।