BREAKING NEWS
Search

श्रीगंगानगर में कयामत ढाएगा नहरों का जहरीला पानी

– केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल को भी घेरा ठ्ठ गुस्साए लोगों ने जगह-जगह किये धरने-प्रदर्शन
श्रीगंगानगर। पंजाब से होकर आने वाली राजस्थान की नहरों में गंदे और जहरीले पानी को लेकर श्रीगंगानगर क्षेत्र के लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है। आमजन में एक तो स्वास्थ्य को बड़ा खतरा होने की आशंका, तो दूसरी तरफ चुनावी माहौल होने से कुछ पार्टियों के नेता आग में घी का काम कर रहे हैं। आजादी के बाद शायद यह पहला मौका है, जब लोग कह रहे हैं कि यह काले पानी से भी बड़ी सजा है। गुस्साए लोगों ने आज प्रात: श्रीगंगानगर में आये केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल का विभिन्न दलों के लोगों ने घेराव और प्रशर्दन किया व सरकार के खिलाफ नारे लगाये।
भाजपाई राजस्थान में अपनी सरकार होने एवं कांग्रेसी पंजाब में अपनी सरकार होने की वजह से सिर्फ बयानों की रस्म अदायगी कर रहे हैं। धरना-प्रदर्शन भी औपचारिक हो रहे हैं, जबकि दोनों दलों के नेता चाहें तो समस्या को निपटाने में ज्यादा देर नहीं लगे।
बहरहाल किसानों और आम लोगों में भारी गुस्सा है। लोगों का कहना है कि नहरों में कचरा और कैमिकल डालने वाली पंजाब की मिल मालिकों के खिलाफ मुकदमे दर्ज करके जेल में डाले तो समाधान में इतना टाइम ना लगे। पंजाब में कांग्रेस सरकार है, तो कांग्रेसी सिर्फ गाल बजा रहे हैं।
नहरों में गंदा, बदबूदार पानी के खिलाफ शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का धरना-प्रदर्शन जारी है। जगह-जगह धरने हो रहे हैं, रास्ते जाम किये जा रहे हैं।
श्रीगंगानगर में दस एलएनपी का पूरा गांव पेयजल की समस्या को लेकर भूख हड़ताल पर बैठ गया है। इनमें महिलाए ,बच्चे भी है। नहरी पाने के रूप में पंजाब से आए शीरा युक्त पानी को डिग्गियों में डाल दिया गया। जलदाय विभाग के कर्मचारियों की घोर लापरवाही सामने आ रही है। प्रशासन के आदेशो को दरकिनार करते हुए जलदाय विभाग के कर्मचारियों ने यही विषैला पानी पेयजल के लिए सप्लाई कर दिया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पहले गांव में पानी के लिए त्राहि त्राहि मची हुई है। ऊपर से ये दूषित पानी हमे पीने के लिए दे दिया। विषैला पानी हम इस्तेमाल नहीं करेगे जब तक साफ पानी नही मिल जाता तब तक भूख हड़ताल पर रहेंगे।
यूआईटी अध्यक्ष ने पंजाब के सीएम से की बात : नगर विकास न्यास के अध्यक्ष संजय महिपाल ने पंजाब से आने वाले जहरीले पानी को रोकने को लेकर गत दिवस पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह से बात की और नदी में दूषित पानी न डालने का निवेदन किया।
भाजपा नेताओं ने गंगनहर व कालूवाला हैड का किया निरीक्षण : भाजपा नगर मण्डल अध्यक्ष अमित चलाना के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने गंगनहर एवं कालूवाला हैड में आ रहे जहरीले पानी का निरीक्षण किया और इस मामले में जिला प्रशासन और सरकार के उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया।
विधायक बराड़ ने मुख्यमंत्री को बताई स्थिति : सादुलशहर विधायक गुरजंट सिंह बराड़ ने नहरों में आ रहे जहरीले पानी को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को अवगत करवाया है। उन्होंने कहा है कि इस पानी के पास कोई व्यक्ति खड़ा नहीं हो सकता और न ही यह पानी सिंचाई के योग्य है।
कांग्रेसी नेता ने दी आंदोलन की चेतावनी : कांग्रेस प्रदेश कार्यसमिति सदस्य व भामाशाह ओम बिश्रोई ने चीफ इंजीनियर हनुमानगढ़ को आंदोलन की चेतावनी देते हुए कहा है कि 20 मई की अद्र्धरात्रि से भाखड़ा की केएसडी, एसडीएस, केआरडब्ल्यू सहित विभिन्न नहरों में कैमिकल एवं अन्य पदार्थांे से युक्त गंदा पानी आ रहा है।
साधुवाली रोड पर सीएम
का फूंका पुतला
किसान नेता अमरसिंह बिश्रोई व अन्य किसानों ने आज विरोध स्वरूप मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का साधुवाली रोड पर पुतला फूंका। इस दौरान लोग हाथों में तख्तियां लिये पानी की बोतलें भरकर प्रदर्शन कर रहे थे।
जिला कलक्टर ने सभी एसडीएम को दिये निर्देश : जिला कलक्टर ज्ञानाराम ने जिले की नहरों में पिछले दो-तीन दिनों से पंजाब से आ रहे दूषित पानी के मामले में सभी एसडीएम को दिशानिर्देश जारी किये हैं। उन्होंने कहा कि यह पानी पेयजल के रूप में उपयोग में न लें। सभी अधिकारी यह ध्यान रखें और जलदाय विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर यह पानी भंडारित न करवायें।