श्रीगंगानगर में बंूदाबांदी, अनूपगढ़ मेंं ओले

– मौसम विभाग और ज्योतिषियों की भविष्यवाणी सच, बदल गया मौसम
– सर्द हवाओं से बढ़ी सर्दी ने लोगों को कंपकंपाया
श्रीगंगानगर (एसबीटी)। मौसम विभाग और ज्योतिषियों की भविष्यवाणी सच साबित हुई है। क्षेत्र में मंगलवार को मौसम ने करवट बदल ली। बादलवाही, सर्द हवाओं और बूंदाबंादी के बाद बढ़ी ठंड ने लोगों को कंपकंपाने पर मजबूर कर दिया। श्रीगंगानगर में आज सुबह बूंदाबांदी हुई जबकि अनूपगढ़ में करीब दो घंटे रुक-रुक कर बरसात का सिलसिला चला। अनूपगढ़ क्षेत्र में ओलावृष्टि भी हुई। वहां चने के आकार के ओले गिरे।
बरसात का इंतजार कर रहे किसानों के चेहरों पर बूंदाबांदी होने से खुशी की लहर दौड़ गई है। श्रीगंगानगर शहर और आसपास समेत पूरे जिले में हुई बूंदाबांदी फसलों के लिए अमृत बनकर बरसी हैं। क्षेत्र में मौसम में सोमवार शाम को बदलाव शुरू हो गया था। शाम को ठंडी हवाएं चलने से सर्दी का अहसास बढ़ गया। रात को भी ठंड ज्यादा रही। आज सुबह लोग सोकर उठे तो आसमान को बादलों से ढका हुआ पाया। सूर्यदेव ने एक बार बादलों की ओट से झांका लेकिन उसके बाद बादलों ने उन्हें सफल नहीं होने दिया।
सुबह करीब आठ बजे बूंदाबांदी होने लगी। इसके बाद सर्द हवाओं ने लोगों को कंपकंपाने पर मजबूर कर दिया। दोपहर में हवाओं के थपेड़ों के कारण कड़ाके की सर्दी का अहसास होने लगा। हवाएं इतना ज्यादा सर्द थीं कि बाहर निकलना मुश्किल होने लगा। लोग गर्म कपड़ों से ढके नजर आए। कई जगह लोग अलाव तापकर सर्दी से राहत पाते नजर आए। सर्दी बढऩे से चाय-पकौड़ी की दुकानों पर भीड़ बढ़ गई। लोग पकौड़े, कचोरी, समोसे आदि का आनंद लेते दिखाई दिए।
11 जिलों में बरसे बादल
जयपुर। राज्य में मंगलवार सुबह हुई बरसात से सर्दी बढ़ गई। जयपुर सहित 11 जिलों में बिजली कड़कने के साथ जोरदार बरसात हुई। बीती रात को ही मौसम बदलने लगा था और सुबह लोगों की नींद बिजली कड़कने की आवाज के साथ खुली। जयपुर, अलवर और अनूपगढ़ में तीन घंटे तक रूक-रूक कर बरसात होती रही। इससे तापमान में गिरावट आई। वहीं बरसात से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। जनवरी में भी सर्दी अपना असर नहीं दिखा पा रही थी। ऐसे में सुबह मौसम ने पलटा खाया और जयपुर, अलवर, गंगानगर सहित राज्य के करीब 11 जिलों में मेघ गर्जन के साथ बरसात हुई। बरसात से स्कूल जाने वाले बच्चों को परेशानी हुई।