संतुलित आहार से बचायें बाल

दूध, दही, हरी सब्जी जैसे प्राकृतिक खाद्य पदार्थों को छोड़कर फास्ड फूड की ओर अधिक झुकाव होने के कारण हमारे बालों की जड़ें कमजोर हो रही हैं। तनाव भरी जिन्दगी में तेजी से हो रही तब्दीली के इस दौर में लोग बालों के आवश्यक पोषक तत्वों की अधिक परवाह नहीं कर पाते, जिसके कारण बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं या झड़ जाते हैं। चिकित्सकों की राय में बालों को ठीक रखने के लिए संतुलित आहार लेना आवश्यक है। कई लोगों के बाल कई प्रकार की बीमारियों के कारण भी झड़ जाते है।
पेट की बीमारी के कारण बाल धीरे-धीरे कमजोर हो जाते है और लोग गंजे होते जाते है। जेनेटिक कारण से भी लोगों को बालों की समस्यायों से दो-चार होना पड़ता है।सरीन हेयर क्लीनिक की डॉ। एस। सरीन ने बताया कि आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग करके बालों की अच्छी देखभाल की जा सकती है। उन्होंने बताया कि गंजे व्यक्ति के सिर पर हेयर रिप्लेसमेंट करके उनके बालों की कमी दूर करने का प्रचलन काफी बढ़ गया है। इस विधि में किसी प्रकार के आपरेंशन करने की कोई आवश्यकता नहीं होती। डा, नवीन कुमार का कहना है कि रूसी, डैंडरफ बालों का दुश्मन है और यह बालों को धीरे-धीरे खोखला कर देते हैं। अच्छे किस्म के शैम्पू से इसे दूूर करके बालों को मजबूत बनाया जा सकता है। लोग विग लगाकर भी बालों की कमी दूर करते हैं। सर्दियों में दिल को ऐसे रखें तंदुरुस्त
– शरीर में कैलोरी का ध्यान रखें, खान-पान ऐसा हो जिससे कैलरी न बढ़े।
– सर्दी के मौसम में सैर करते वक्त शरीर खासकर छाती पूरी तरह ढक कर रखें। गर्म कपड़े ही पहनें।
– सर्दी में इनडोर व्यायाम ही करें, क्योंकि खुले में व्यायाम करने से ठंड लग सकती है, जो दिल के मरीज के लिए खतरनाक सािबत हो सकती है।
– सर्दी में शरीर को चलता-फिरता रखें। स्वयं को कार्यों में व्यस्त रखें। सर्दी में स्मोकिंग हैिबट भी बढ़ जाती है, इस पर कंट्रोल रखें।
– दिल के मरीज शुगर के भी शिकार होते हैं, इसलिए सर्दी में मीठा और मांसाहारी भोजन खाने से बचें, क्योंकि इससे शुगर का स्तर बढ़ जाता है।