सड़क हादसे में घुमन्तु बोर्ड के चेयरमैन का निधन

– बेटा, गनमैन व चालक घायल, जयपुर से अपने गांव लौट रहे थे
चूरू। राजस्थान के घुमन्तु, अद्र्धघुमन्तू विमुक्त जाति कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष जगमाल सांसी का बीती रात सड़क हादसे में निधन हो गया। हादसे में उनके पुत्र, गाड़ी का चालक व गनमैन घायल हो गये। हादसा बीती रात करीब दस बजे सदर पुलिस थाना क्षेत्र में नेशनल हाइवे संख्या 52 पर गांव रामसरा के निकट हुआ। सांसी को राज्य मंत्री का दर्जा मिला हुआ था।
थाना प्रभारी रामविलास बिश्रोई ने बताया कि अध्यक्ष जगमाल सांसी, मोटर गैराज विभाग जयपुर की सफारी गाड़ी में चालक शिवपाल, पुत्र 30 वर्षीय चन्द्रशेखर सांसी व गनमैन बेगराज (चुरू पुलिस) के साथ जयपुर से अपने गांव पंडरेऊ टिब्बा तहसील तारानगर में जा रहे थे।
रात करीब दस बजे रामसरा गांव के निकट नील गाय को बचाने के चक्कर में चालक गाड़ी का संतुलन खो बैठा और गाड़ी कई पलटे खाते हुए गड्डे में जा गिर्री। हादसे में 66 वर्षीय जगमाल सांसी, चालक शिवपाल, गनमैन बेगराज व पुत्र चन्द्रशेखर घायल हो गये।
सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को चूरू के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां जगमाल सांसी ने दम तोड़ दिया। चालक शिवपाल को जयपुर रेफर कर दिया गया है। गनमैन बेगराज चूरू के अस्पताल में भर्ती है। पुत्र चंद्रशेखर सांसी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। थाना प्रभारी श्री बिश्रोई ने बताया कि आज दोपहर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के हवाले कर दिया गया है।
आरएसएस से जुड़े थे सांसी
श्रीगंगानगर (एसबीटी)। पिछड़े परिवार से ताल्लुक रखने वाले जगमाल सांसी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) में विभिन्न पदों पर रहे। वर्ष 2016 के दिसंबर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सेवानिवृत्त वरिष्ठ लिपिक सांसी को घुमंतु एवं विमुक्त जाति कल्याण आयोग का अध्यक्ष बनाया था। सांसी ने डूंगर कॉलेज, बीकानेर से एमए की पढ़ाई की। उन्होंने 1979 में संयुक्त रजिस्ट्रार, सहकारी समिति, बीकानेर में कनिष्ठ लिपिक के पद से राजकीय सेवा शुरू की और वर्ष 2012 में चूरू से सेवानिवृत्त हो गये।