सिरसा डेरा में कड़ी सुरक्षा के बीच दूसरे दिन सर्च ऑपरेशन जुटा अमला

– डेरे में मिली अवैध पटाखा फैक्ट्री
– दो ट्रकों में भरी मिली पटाखों की 80 से ज्यादा पेटियां
सिरसा। सिरसा में गुरमीत राम रहीम के डेरे पर दूसरे दिन सर्च अभियान शुरू हो गया है। पुलिस ने डेरे परिसर के अंदर से विस्फोटक जब्त किए हैं। हरियाणा सरकार के जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक सतीश मिश्रा ने बताया कि डेरा परिसर के भीतर एक अवैध पटाखा फैक्ट्री भी चलाई जा रही थी, जिसे सील कर दिया गया है। दो ट्रकों में 80 से ज्यादा पेटियो में पटाखे भरे हुए है। उन्होंने कहा कि डेरे के पास लाइसेंस है या नहीं इसकी जांच की जाएगी। वहीं डेरे के भीतर से नर-कंकालों को दबाए जाने की खबरों को लेकर जब मिश्रा से पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि अभी इस बारे में कुछ भी नहीं बताया जा सकता है। इस मामले में जांच के लिए विशेषज्ञों की टीम बुलाई है। दरअसल सिरसा स्थित डेरा परिसर बहुत ही बड़ा है और वहां रविवार से ही खुदाई का काम शुरू हो पाएगा। खुद को स्वयंभू संत बताने वाले राम रहीम की जड़ें खंगालने में अच्छा खासा वक्त लग सकता है और तब तक लंबी-चौड़ी सर्च टीम भी अभियान में जुटी रहेगी।
दूसरे दिन महातलाशी को शुरू हुए करीब दो घंटे बाद एक साथ 10 एफएसएल की गाडय़िों ने डेरे में प्रवेश किया। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक, जिस फैक्ट्री को डेरे में आज सुबह सील किया गया, वहां कुछ हथियारों को डिजाइन किया जाता था। पिछले दिनों जिन हथियारों को बरामद किया गया था, उनमें से कुछ की बट इसी फैक्ट्री में बनी है। जिस घेरे में गुरमीत राम रहीम ध्यान लगाता था, वहां जेसीबी से खुदाई शुरू की जा चुकी है।
सबसे अधिक ध्यान
नरकंकालों की खोज शुरू
डेरा में सर्च ऑप्रेशन पर सबसे अधिक ध्यान नरकंकालों की खोज पर है। डेरा के 2 पूर्व साधुओं हंसराज व गुरदास सिंह यह आरोप लगा चुके हैं कि डेरा में अनेक लोगों को कत्ल कर खेतों में दबा दिया गया और बाद में वहां पेड़ लगा दिए गए। इसकी जांच के लिए ही जे.सी.बी. मशीनें व विशेष प्रकार के उपकरण जुटाए गए। चूंकि डेरा परिसर के खेत करीब साढ़े 750 एकड़ में फैले हैं। डेरे में 1000 से अधिक भवन हैं। ऐसे में फिलहाल जांच टीम प्राथमिक चरण में विभिन्न इमारतों में जांच कर रही है। सूत्रों का कहना है कि अभी खुदाई के कार्य में वक्त लग सकता है।