सीकर में स्थिति तनावपूर्ण

– धारा 144 लागू, इंटरनेट बैन
सीकर। स्वामीनाथान आयोग की सिफारिशें माने जाने और कर्ज माफी की मांग को लेकर पिछले दस दिनों से महापड़व पर बैठे किसान नेताओं ने सोमवार को सीकर जिला कलेक्ट्रेट पर महापड़ाव डालने की घोषणा की. चूरू में कलक्ट्रेट को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। किसान सभा की और से जिला कलेक्ट्रेट पर महापड़ाव की घोषणा किए जाने के बाद जिले में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. किसान कृषि उपज मंडी में महापड़ाव डाले बैठे हैं। कलेक्ट्रेट पर महापड़ाव की घोषणा के बाद जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर जिले भर में इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी है और जिला कलेक्ट्रेट के आस-पास के दो किलोमीटर के इलाके में धारा 144 लागू कर दी है. जिला मुख्यालय पर चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और जिला कलक्ट्रेट तक पहुंचने वाले हर रास्ते को सील कर दिया गया है. वहीं किसानों द्वारा अपनी मांगों को लेकर सोमवार को जिले के गांवों में भी चक्का जाम करने की घोषणा की गई है। इसके अलावा चूरू जिले में भी किसानों के आंदोलन को लेकर प्रशासन ने कलेक्ट्रेट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया है. एएसपी केसर सिंह के नेतृत्व में पुलिस व्यवस्था चाक-चौबंद रखी गई है।