सुनीं जाएंगी ई-मित्र की भी शिकायतें

– प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को सायं तीन से चार बजे तक का समय निर्धारित
श्रीगंगानगर। जिले में ई-मित्र कियोस्कों पर ई-गवर्नेंस संबंधित विभिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। इसमें मुख्यत: विद्युत, पीएचईडी, बीएसएनएल बिल, भामाशाह, आधार कार्ड, राशन कार्ड, श्रमिक कार्ड बनाए जा रहे हंै। जिला स्तर पर ई-मित्र सेवाओं से संबंधित विभिन्न प्रकार की शिकायतें प्रतिदिन प्राप्त हो रही हंै। इसमें मुख्यत: ईमित्र कियोस्कों से संबंधित अनियमितता जैसे रेट लिस्ट नहीं लगाना, अधिक राशि वसूल करना, जमा बिलों पर स्टाम्प लगा कर देना, ऑनलाइन रसीद नहीं देना, समस्त सेवाएं प्रदान नहीं करना आदि शामिल हैं। जिला, ब्लॉक स्तर पर ईमित्र कियोस्कों के संबंध में आमजन की समस्याओं के निवारण के लिए निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक मंगलवार, शुक्रवार को दोपहर बाद तीन से पांच बजे तक कार्यालय एसीपी एवं उपनिदेशक, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग में शिकायतें सुनकर समाधान किया जाए।
इस बीच, सूचना प्रोद्यौगिकी एवं संचार विभाग कार्यालय में एसीपी, डीओआईटीसी की अध्यक्षता में ईमित्र संंबंधित समस्याओं एवं कार्याें के लिए बैठक हुई। बैठक में विभिन्न एलएसपी और संबंधित कार्यालय कर्मचारियों ने भाग लिया। बैठक में ई-मित्र संचालकों को रेट लिस्ट चस्पा करने, जिला समन्वयक के शिकायतों का निवारण करने,  डिफाल्टर कियोस्क के खिलाफ कार्यवाही करने, प्रशिक्षण में अनुपस्थिति कियोस्कों के विरुद्ध कार्यवाही करने तथा कियोस्कों के प्राप्त किये गये बिलों व ऑनलाइन किये गये बिलों व अन्य समस्त सेवाओं का रिकन्साइल 31 मार्च से पूर्व करने के निर्देश दिए गए।