सेहतमंद रहने के लिए करें अंदर के रावण से मुकाबला

पूरे देश में त्योहारों का मौसम है। इन दिनों होने वाले कई सारे त्योहारों में दशहरा भी एक है, बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। प्रतीकात्मक रूप से, आज के कुछ रोगों के रूप में आज भी आधुनिक राक्षस हमारे बीच मौजूद हैं। त्योहार के इस सीजन में रोगों से रोकथाम के उपाय करने और स्वस्थ जीवन शैली अपना कर रोग रूपी राक्षसों पर विजय प्राप्त करने की आवश्यकता है। सेहत के कुछ तथाकथित राक्षसों में से प्रमुख हैं तनाव, धूम्रपान, शराब, नुकसान दायक आहार, शारीरिक गतिविधि की कमी और मानसिक व शारीरिक कष्ट जिनकी हम अनदेखी करते रहते हैं।
– ऑफिस या घर पर काम करते समय थोड़ी-थोड़ी देर बाद छोटा सा बे्रक लेकर तनाव से बचा जा सकता है। काबोर्हाइड्रेट के लिए सफेद के बजाय ब्राउन बे्रड लें, विटामिन सी के लिए नींबू व संतरा लें, मैग्नीशियम के लिए पालक लें। स्वस्थ आहार और पयाप्र्त नींद से सेरोटोनिन जैसे रसायनों का स्राव होता है, जो तनाव कम करता है।
– धूम्रपान से रक्तचाप बढ़ जाता है, हृदय गति बढ़ जाती है और मस्तिष्क में ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाती है। आपको तुरंत इस लत से छुटकारा पाना चाहिए।
– शराब छोड़ दें, क्योंकि इससे हृदय की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं और यह लीवर के सिरोसिस का कारण बन सकती है। यह मोटापे और डिपे्रशन की भी वजह बनती है।
– संतुलित आहार महत्वपूर्ण है। स्वस्थ भोजन का उपभोग करें, जिसमें आवश्यक पोषक तत्व हों। एक ही बार में ढेर सारा खाने की बजाय थोड़े अंतराल पर कम मात्रा में खाना अच्छा रहता है। पयाप्र्त मात्रा में फल और सब्जियां लेना भी महत्वपूर्ण है। उच्च ट्रांस वसा, चीनी और सोडियम से युक्त भोजन का सेवन कम करना चाहिए।
– रोज कसरत करें। 5-मिनट तक तेज चलें और 10-मिनट तक शरीर को तानें व खींचे। नियमित व्यायाम उच्च रक्तचाप और मोटापे को काबू रखता है।