सो रही किशोरी को उठा ले गया पैंथर

जयपुर। राजसमंद जिले के केलवाड़ा थाना इलाके में बुधवार देर रात को घर में सो रही एक किशोरी को पैंथर उठा ले गया। वहीं घर से कुछ ही दूरी पर किशोरी का लहूलुहान शव मिला।  पुलिस ने बताया कि किशोरी के चेहरे और गर्दन पर जख्म हो गए और बच्ची ने वहीं दम तोड़ दिया। बच्ची की मौत पर घर में मातम छा गया।
पुलिस के अनुसार गजपुर पंचायत स्थित चीतर की नाल गांव में यह हादसा हुआ। जहां  गांव में अपनी मां के पास छत पर सो रही 12 साल की बच्ची को पैंथर उठा ले गया। बच्ची को मुंह में दबोचे हुए पैंथर ने छत से छलांग लगाई तो बच्ची उसकी पकड़ से छूट गई। यह ऐसी इस साल की चौथी घटना है जब पैंथर ने बच्चों को अपना शिकार बनाया है।  पुलिस ने बताया कि चीतर की नाल  निवासी रामसिंह  की पत्नी और बेटी रवीना बुधवार रात घर की छत पर सो रहे थे और मृतका बच्ची अपनी मां के पास सो रही थी।  इस दौरान तड़के एक पैंथर शिकार की तलाश में बस्ती में घुस आया।
बताया जा रहा है कि पैंथर उस छत पर पहुंच गया जहां रवीना सो रही थी।  पैंथर ने रवीना को गले से पकड़ कर उठाया। नींद में अचानक यह सब होने और पैंथर की पकड़ के कारण बच्ची की आवाज नहीं निकली।  पैंथर 10 फीट ऊंची छत से बच्ची को लेकर कूदा। छत से कूदते ही बच्ची उससे छूट कर दूर जा गिरी और बच्ची की जोर से चीख निकल गई।  चीखते ही छत पर सो रहे लोग जाग गए और वहीं आस-पास के लोग भी जाग गए। हल्ला मचते ही पैंथर बच्ची को छोड़ कर भाग गया। घरवालों ने छत से देखा तो बच्ची जमीन पर पड़ी हुई थी तथा उसकी गर्जद से खून निकल रहा था।  गांववालों ने पुलिस व वन विभाग के अधिकारियों को सूचित किया।  बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ केंद्र ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। थानाधिकारी रामसुमेर मीणा और कुंभलगढ़ रेंजर विनोद राय पहुंचे और वन विभाग ने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया है।