हाथों को दें आराम अब बोलकर करें सिस्टम पर टाइप

अक्सर ऑफिस मे काम करते वक्त एक समय ऐसा भी आता है जब आपको लगता है कि कीबोर्ड पर लगातार घूमती अंगुलियों को कुछ आराम दिया जाए, तो आपकी इस समस्या का हल भी आपके सिस्टम में मौजूद है बस जरूरत हौ तो उसको उपयोग में लाने की।
सिर्फ बोलने से टाइप होगा टेक्सट: कई बार ऐसा होता है कि जब हम टाइप करते हैं, तो हमारे दिमाग में ख्याल आता है कि अच्छा होता कि हम बोलते और टेक्स्ट खुद ही टाइप हो जाता। इस ख्याल को हकीकत बनाया जा सकता है।
पीसी से लेकर स्मार्टफोन तक में ऐसे फीचर मौजूद हैं, जहां टेक्स्ट बोलने पर खुद ही टाइप हो जाता है। ये तरीका कई यूजर्स को पता नहीं होता या उन्हें ये मुश्किल लगता है। हम आपको इन्हीं तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं।
हालांकि स्पीच रिकग्निशन की एक्युरेसी कम होती है। आसान भाषा में समझाएं तो अगर आप ‘टेक्स्ट टू स्पीचÓ फीचर का इस्तेमाल करते हैं तो 100 फीसदी में 80 फीसदी की एक्युरेसी आपको मिलती है( एक्युरेसी लेवल घट और बढ़ दोनों सकता है)। तो आइए जानते हैं कि इस फीचर का कैसे उठा सकते हैं फायदा। वॉइस इनपुट को विंडोज पर कैसे करें इनेबल
विंडोज 7: स्टार्ट बटन पर क्लिक करें। इसके बाद ऑल प्रोग्राम में जाएं। यहां आपको एसेसरीज ऑप्शन दिखेगा, इस पर क्लिक करें। क्लिक करते ही आपको Ease of Access दिखेगा, यहां क्लिक करने के बाद आप Windows Speech Recognition पर पहुंच जाएंगे।
विंडोज 8: विण्डो की के साथ क्यू बटन दबाएं। सर्च बॉक्स ऑप्शन में speech recognition टाइप करें और फिर इस पर क्लिक करें। इसके बाद विंडोड स्पीच रिकग्निशन शुरू हो जाएगा।
विंडोज 10: कन्ट्रोल पेनल पर जाएं। यहां Ease of Access ऑप्शन दिखाई देगा, इस पर क्लिक करें। इसके बाद Speech Recognition ऑप्शन आएगा जिसपर क्लिक करने के बाद स्पीच रिकग्निशन शुरू हो जाएगा।
इन तरीकों से आप अपने विंडोज पर स्पीच रिकग्निशन ऑप्शन को इनेबल कर पाएंगे। इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए टेक्स्ट बॉक्स में जाएं। यहां आपको Start Listening कहना पड़ेगा जिसके बाद आपके सिस्टम का माइक्रोफोन एक्टिव हो जाएगा और आपकी आवाज सुनना शुरू कर देगा।
इसके बाद आप जो भी कहेंगे कंप्यूटर उसे टाइप करना शुरू कर देगा। अगर आपका टेक्स्ट गलत टाइप हो गया है तो आपको correct that कहना पड़ेगा। इसके बाद आप जो भी कहेंगे उससे आखिरी शब्द बदल जाएगा।
वॉइस इनपुट को मैक ऑपरेटिंग सिस्टम पर कैसे करें इनेबल: अपने मैक सिस्टम पर Apple Menu में जाएं। इसके बाद System Preferences पर क्लिक करें। यहां Keyboard ऑप्शन दिखाई देगा, इस पर क्लिक करते ही आपके सामने Dictation ऑप्शन आ जाएगा।
एंड्रायड स्मार्टफोन पर वॉइस इनपुट को कैसे करें इनेबल: विंडोज या मैक ऑपरेटिंग सिस्टम से अलग एंड्रायड स्मार्टफोन पर आपको टेक्स्ट टू स्पीच के लिए किसी सेटिंग पर जाने की जरूरत नहीं है। आपके कीबोर्ड पर माईक आइकन दिखाई देगा, इसपर आपको सिफ टैप करना है। इसके बाद आप जो भी बोलेंगे सिस्टम उसे टाइप करते जाएगा। एंड्रॉयड पर टेक्स्ट टू स्पीच पीसी की तुलना में ज्यादा सटीक है।
आईफोन और आईपैड टच पर वॉइस इनपुट को कैसे करें इनेबल: अगर आप आईफोन या आईपैड का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपके लिए वॉइस टाइपिंग एक अच्छा विकल्प है। इसके लिए अपने कीबोर्ड के माइक आइकन पर टैप करें। इसके बाद इनेबल डिक्टेशन पर क्लिक करें।