हाफिज की रिहाई पर राहुल का तंज- नरेंद्रभाई बात नहीं बनी, ट्रंप से और गले मिलने की जरूरत

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद की रिहाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. राहुल ने शनिवार को ट्वीट कर पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की रिहाई और अमेरिका की ओर से पाकिस्तान सेना को लश्कर फंडिंग मामले में क्लीन चिट को लेकर मोदी और ट्रंप की दोस्ती पर तंज कसा है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘नरेंद्रभाई बात नहीं बनी, आतंक का मास्टरमाइंड आजाद, राष्ट्रपति ट्रंप ने लश्कर फंडिंग मामले में पाक सेना को क्लीन चिट दे दी, गले लगाने की नीति काम नहीं आई, जल्द ही और गले लगाने की जरूरत है.Ó राहुल ने अपने एक ट्वीट से मोदी सरकार को कई मोर्चों पर घेरने की कोशिश की है. शुक्रवार को ही पाक अदालत ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा सरगना हाफिज सईद को जेल से रिहा कर दिया. भारत समेत कई मुल्कों ने पाकिस्तान के इस कदम का कड़ा विरोध किया है. अमेरिका ने भी पाक सरकार को हाफिज सईद को तुरंत गिरफ्तार करने की चेतावनी तक दी है. बता दें कि हाफिज ने रिहा होते ही कहा था कि भारत के अनुरोध पर अमेरिका के दबाव में उसे हिरासत में लिया गया था. हाफिज का जेल से बाहर आना भारत और अमेरिका जैसे देशों के लिए कड़ी चुनौती से कम नहीं है. हाल ही में अमेरिकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को 70 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद देने का फैसला भी किया था. साथ ही आतंकी संगठन लश्कर से पाक सेना को फंडिंग मामले में भी अमेरिका ने क्लीन चिट दी है. इस मुद्दों को उठाते हुए राहुल गांधी ने पीएम मोदी और अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती पर तंज कसा है. बता दें कि पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के रिश्ते में काफी गर्मजोशी नजर आती है, दोनों नेताओं का गर्मजोशी में गले मिलना चर्चा का विषय रहा है. दोनों नेताओं के गले मिलने को राहुल ने ‘हगफ्लोमेसीÓ बताया है. साथ ही राहुल ने यह भी लिखा कि इतना गले मिलने से भी बात नहीं बन पाई है और ज्यादा गले मिलने की जरूरत है. केंद्र सरकार अमेरिका से अच्छे रिश्तों की बात लगातार कहती आई है. साथ ही नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रंप हों या फिर पूर्व अमेरिका राष्ट्रपति बराक ओबामा, दोनों ही नेताओं से पीएम मोदी के रिश्ते दोस्ताना रहे हैं.