हिमाचल में शीतलहर, उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में जबर्दस्त कोहरा और ठंड

नई दिल्ली। पहाड़ों पर बर्फबारी और बारिश से ठंड के साथ शीतलहर ने भी आमजनों की कठिनाई बढ़ा दी है। मैदानी इलाकों में भी बर्फबारी का असर दिखने लगा है। दिल्ली-एनसीआर भी कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू हो गया है। राजस्थान के माउंट आबू में तो झील ही जम गई है। राजस्थान में पिछले दिनों हुई बारिश के बाद बढ़ी सर्दी का सितम जारी है। अलवर में सर्दी से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। राज्य के एकमात्र पर्वतीय स्थल माउंट आबू में नक्की झील जम गई है। उत्तराखंड में मंगलवार को हुई बर्फबारी और बारिश के बाद पहाड़ से लेकर मैदान तक सर्दी का प्रकोप बढ़ गया है। हरिद्वार और उधमसिंह नगर में कोहरा तो पर्वतीय क्षेत्रों में पाला पडऩे की संभावना है। हिमाचल में तीन दिन तक लगातार बारिश व बर्फबारी के बाद गुरुवार को मौसम साफ हो गया। बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद जनजातीय क्षेत्र में पटरी से उतरा जनजीवन अभी भी सामान्य नहीं हो पाया है। इन इलाकों में सड़कें बंद पड़ी हैं, जिससे दैनिक उपयोग की वस्तुओं की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है। चंबा जिले में अभी भी 26 सड़कों पर यातायात बहाल नहीं हो पाया है। वहीं 30 गांवों में तीन दिन से बिजली आपूर्ति ठप पड़ी हुई है। गुरुवार को केलंग का न्यूनतम तापमान -6.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वादी को देश व दुनिया के शेष हिस्सों से जोडऩे वाला श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग दो दिन लगातार बंद रहने के बाद गुरुवार को एक तरफा यातायात के लिए खोल दिया गया। मंगलवार को जवाहर टनल के निकट भारी बर्फबारी और कई जगहों पर भूस्खलन के चलते राजमार्ग बंद कर दिया था। हाईवे पर दिनभर वाहन जम्मू से श्रीनगर की तरफ आते रहे। जम्मू को पुंछ से और पुंछ से कश्मीर को जोडऩे वाला मुगल रोड बर्फबारी के चलते पहले ही बंद है। वहीं कठुआ के चट्टर गाला पास से मंगलवार को बर्फीले तूफान में लापता तीन व्यक्ति बचा लिए गए हैं। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी का सिलसिला रुक रुक कर जारी रहा। तापमान के शून्य से नीचे बने रहने के चलते भीषण ठंड का प्रकोप फिर से बढ़ गया है। प्रसिद्ध डल झील समेत सभी जलस्रोत व नल आंशिक तौर पर जम गए हैं। श्रीनगर में रात का न्यूनतम तापमान -1.2, दिन का अधिकतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। गुलगर्म में रात का न्यूनतम तापमान -9.8 व पहलागम में रात का न्यूनतम तापमान -6.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। विपरीत मौसम में केदारनाथ से लौटे 70 श्रमिकरुद्रप्रयाग। केदारनाथ में कड़ाके की सर्दी के बीच पुनर्निर्माण कार्यों में जुटे लोक निर्माण विभाग के सभी 70 श्रमिक लौट गए हैं।