11वीं में किस विषय कर करें चयन

आज हम आपके करियर से संबंधित कुछ ऐसे विषय पर बात करेंगे, जिस पर शायद आप अभी गौर नहीं करते, लेकिन हां बाद में इसी बात पर अफसोस करेंगे कि शायद हमने उस टाइम ही इतना सोचा होता तो आज ये दिन देखने को नहीं मिलता, अक्सर हम देखते है कि जैसे ही 10 वी कक्षा का रिजल्ट आ जाता है तो जिस विषय में हमारे सबसे ज्यादा नंबर होते है, हमारे घर के बड़े हमे उसी विषय को लेने के लिए प्रेरित करते है, उस समय हम खुद इतने स्वत्रंत नहीं होते है कि हम यह निर्णय स्वयं ले सके, कि हमे किस विषय का चयन करना चाहिए।
दसवीं कक्षा के बाद में जैसे ही विद्यार्थी 11वीं कक्षा में प्रवेश करता है उस समय वह एक माटी की तरह होता है उसे जिस आकर में ढालो वह वही रूप ले लेता है, लेकिन एक समय ऐसा भी आ जाता है जब विद्यार्थी खुद के लिए सोचने लग जाता है, पर तब तक बहुत देर ही जाती है। अक्सर हम देखते है विद्यार्थी 10 वी कक्षा पास करते ही घर वालो के कहे मुताबिक विषय का चयन कर लेता है, और उसी में पढ़ाई करने लग जाता है, उस समय विद्यार्थी सिर्फ अच्छे अंक के लिए पड़ता है, उसे यह नहीं मालूम होता कि उसे आगे क्या करना है, वही जैसे ही स्कूल खत्म हो जाता है, तो वह कॉलेज की मस्ती में इतना मगन हो जाता है, कि वो तब भी अपने भविष्य के बारे में नहीं सोच पता और कॉलेज खत्म होते ही विद्यार्थी इस असमंजस में घूम जाता है कि अब उसे आगे क्या करना है, उस वक्त विद्यार्थी यह सोचने लग जाता है कि अगर 11वीं में यह विषय लेता तो मै बहुत अच्छा कर सकता था, जब यह सब सारी चीजे हमे आगे जाकर सोचनी ही तो वो सब हम अभी क्यों नहीं सोच सकते, अपने विषय का चयन विद्यार्थी स्वमं करे क्योकि आपका एक निर्णय आपका भविष्य आबाद और बर्बाद दोनों कर सकता है।