मुंबई। भारत के इकलौते ओलिंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ने आज खुलासा किया कि वह 2014 में न्यूरॉलजी से जुड़ी गंभीर समस्या का शिकार हो गए थे, जिससे उनके हाथों में कंपन पैदा हो गई। बिंद्रा ने कहा ,’2014 में चेकअप के बाद पता चला कि मुझे न्यूरॉलजी से जुड़ी गंभीर समस्या है, ..." />
Breaking News

2014 में न्यूरॉलजी से जुड़ी समस्या का शिकार हुआ था: बिंद्रा

मुंबई। भारत के इकलौते ओलिंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ने आज खुलासा किया कि वह 2014 में न्यूरॉलजी से जुड़ी गंभीर समस्या का शिकार हो गए थे, जिससे उनके हाथों में कंपन पैदा हो गई। बिंद्रा ने कहा ,’2014 में चेकअप के बाद पता चला कि मुझे न्यूरॉलजी से जुड़ी गंभीर समस्या है, जिससे मेरे हाथ में कंपन शुरू हो गई। मेरा हाथ कंपकंपाता रहता था और मैं ऐसे खेल से जुड़ा था जिसमें हाथ स्थिर रहना जरूरी है। उस समय मेरी स्थिति काफी विकट थी।, इंडिया टुडे कांक्लेव के एक सत्र में बिंद्रा ने यह बात कही। सत्र का संचालन कर रहे बोरिया मजूमदार ने कहा कि उस स्थिति को ‘मिर्गी, कहते हैं और उसका शिकार होने के बावजूद बिंद्रा ने 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता और रियो ओलिंपिक में पदक के करीब पहुंचे। बिंद्रा ने हालांकि इस बात से इनकार किया कि इसकी वजह से वह रियो ओलिंपिक में चौथे स्थान पर रहे।

Related Posts

error: Content is protected !!