– सरकारी उपक्रमों, बैंक भवनों व निजी चिकित्सालयों पर दबाव श्रीगंगानगर। बकाया नगरीय विकास कर की वसूली के लिए नगरपरिषद की राजस्व शाखा ने प्रयास तेज कर दिये हैं। दो दिन पहले ही सभापति अजय चांडक ने 31 मार्च तक शत प्रतिशत वसूली के निर्देश दिये थे। इसके बाद वसूली अभियान के लिए दो टीमों ..." />

नगरीय कर की वसूली के लिए दस्तक

– सरकारी उपक्रमों, बैंक भवनों व निजी चिकित्सालयों पर दबाव
श्रीगंगानगर। बकाया नगरीय विकास कर की वसूली के लिए नगरपरिषद की राजस्व शाखा ने प्रयास तेज कर दिये हैं। दो दिन पहले ही सभापति अजय चांडक ने 31 मार्च तक शत प्रतिशत वसूली के निर्देश दिये थे। इसके बाद वसूली अभियान के लिए दो टीमों का गठन किया गया। बताया जा रहा है कि दो दिन में ही परिषद को करीब 20 लाख रुपये राजस्व की प्राप्ति हुई है। सोमवार को भी राजस्व अधिकारी लाजपत बिश्रोई व लिपिक राजेश कुमार की टीम ने मीरा मार्ग स्थित एलआईसी, आंचल हॉस्पीटल, पीएनबी बैंक, डावर हॉस्पीटल व गौड़ हॉस्पीटल के मालिकों से बकाया नगरीय कर की वसूली की है। आरओ लाजपत बिश्रोई ने बताया कि इन सभी भू-सम्पत्ति मालिकोंं ने बकाया नगरीय कर राशि के चैक सौंप दिये हैं।

Related Posts