JEE Main: ये है तैयारी का सही तरीका

इंजीनियरिंग में प्रवेश हेतु संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई-मेन) 2 अप्रैल 2017 को आयोजित होनी है। सीबीएसई द्वारा हर साल आयोजित इस परीक्षा के आधार पर आईआईटी, एनआईटी तथा केंद्र व राज्यों द्वारा सहायता प्राप्त तकनीकी संस्थानों में अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रमों (बीई/ बीटेक) में प्रवेश दिया जाता है। जानते हैं, जेईई की तैयारी मुकम्मल तरीके से कैसे की जाए।
जेईई मेन परीक्षा ऑफलाइन और ऑनलाइन दो तरह से आयोजित होती है। आप चाहें, तो पेपर-पेन के माध्यम से परीक्षा दें या फिर कम्प्यूटर के माध्यम से। इस परीक्षा में एक प्रश्नपत्र होता है, जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स से कुल 90 प्रश्न पूछे जाते हैं। तीनों विषयों से तकरीबन 30-30 प्रश्न होते हैं। ये सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के (मल्टीपल चॉइस) होते हैं। इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है। आम तौर पर इस परीक्षा में इंटरमीडिएट का पूरा पाठ्यक्रम कवर होता है लेकिन इनमें कुछ चैप्टर्स ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं और अधिकांश प्रश्न उन्हीं में से पूछे जाते हैं।
अहम टॉपिक्स
फिजिक्स: न्यूटन्स लॉ ऑफ मोशन, केमिकल काइनेटिक्स, वर्क-एनर्जीपावर, कंजर्वेशन लॉ, रोटेशन मोशन, इलेक्ट्रॉनिक्स, ईएमआई, हीट एंड थर्मोडायनेमिक्स, न्यूक्लियर फिजिक्स, रेडियोएक्टिविटी तथा सेमीकंडक्टर्स।
केमिस्ट्री: रीडॉक्स रिएक्शन, इलेक्ट्रोकेमिस्ट्री, केमिकल काइनेटिक्स, जीओसी, पी ब्लॉक एलिमेंट्स।
मैथ्स: कोनिक सेक्शन, पी एंड सी, प्रोबैबिलिटी, क्वॉडरेटिक इक्वेशंस, डेफिनेट इंटीग्रेशन, डिफरेंशियल इक्वेशंस, वेक्टर एंड थ्रीडी तथा कॉम्प्लेक्स नंबर्स।
नियमित अभ्यास करें
जेईई मेन और जेईई एडवांस जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मॉक टेस्ट का नियमित अभ्यास बड़ा मायने रखता है। इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे सभी विद्यार्थियों को एक बार कोर्स पूरा कर लेने के बाद मॉक टेस्ट का जेईई मेन-2017 अभ्यास बार-बार करना चाहिए। खासकर जब मेन परीक्षा के लिए सिर्फ एक-दो माह का समय बचा हो। ऐसा करके विद्यार्थी अपने प्रदर्शन में और सुधार ला सकते हैं। यह सब अधिक से अधिक टेस्ट देकर ही किया जा सकता है। प्रश्नों को हल करने का अभ्यास प्रश्नपत्र के लिए निर्धारित अवधि के अंदर ही करने का प्रयास करें।
स्पीड व एक्युरेसी
अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तरह जेईई मेन में भी गति और शुद्धता यानी स्पीड और एक्युरेसी पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है, जो लगातार लिखित अभ्यास से ही संभव है। इसके लिए आप घर पर ही परीक्षा जैसे माहौल में रोजाना प्रश्नों को हल करने की प्रैक्टिस करें। अपनी कमजोरियों को तलाशें और उन्हें दूर करने की कोशिश करें।
सीखें सही प्रश्नों का चयन
यह सही है कि प्रतियोगी परीक्षाओं में किसी भी विद्यार्थी के लिए 100 प्रतिशत अंक पाना संभव नहीं हो पाता लेकिन इससे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि परीक्षा में आपने औरों से कितना अच्छा प्रदर्शन किया क्योंकि अगर पेपर कठिन है, तो वह सभी के लिए होगा। इसलिए आपको यह समझना होगा कि परीक्षा देते समय किस प्रश्न को हल करना चाहिए और किसे छोड़ देना चाहिए। इस चयन में आपकी निर्णय क्षमता अधिक मायने रखेगी।
महत्वपूर्ण जानकारी व तिथियां
शैक्षणिक योग्यता: पीसीएम विषयों से 12वीं या समकक्ष परीक्षा पास। 12वीं बोर्ड एग्जाम में शामिल हो रहे अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकते हैं।
आयु: आवेदक का जन्म 1 अक्टूबर 1992 को या इसके बाद होना चाहिए।
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि: 2 जनवरी 2017
रजिस्ट्रेशन: आधार कार्ड होना जरूरी है
ऑफलाइन परीक्षा की तिथि: 2 अप्रैल 2017
ऑनलाइन परीक्षा की तिथि: 8 व 9 अप्रैल 2017
अधकि जानकारी: www.jeemain.nic.in